ऐसे रखें सर्दियों में दिल का विशेष ख्याल, नहीं तो हो सकती है परेशानी…

सर्दियों में दिल की बिमारियों का खतरा बढ़ जाता है। अगर आप भी दिल के रोगी हैं, तो अपने दिल का ख्याल रखें। बढ़ती सर्दी हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है। सर्दी के मौसम का हृदय रोगों से गहरा संबंध होता है। सर्दी की वजह से हृदय व रक्त संचार प्रभावित होते है। सर्दी मौसम की वजह से दिल की धमनियां सिकुड़ जाती हैं, जिससे दिल में रक्त और ऑक्सीजन का संचार कम होने लगता है।

इसे भी पढ़ें : सर्दियों में मूली खाने के होते हैं बड़े फायदे जान कर रह जायेंगे दंग…

इससे हाइपरटेंशन और दिल के रोगों वाले मरीजों में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। सर्दी के मौसम में ब्लड प्लेट्लेट्स ज्यादा सक्रिय और चिपचिपे होते हैं, इसलिए रक्त के थक्के जमने की आशंका भी बढ़ जाती है। इस मौसम में दिल और उच्च रक्तचाप के रोगियों को अपना खास ख्याल रखना चाहिए।

अवसाद और तनाव से बचे

दिन छोटे होते हैं और अक्सर इस मौसम में लोग अवसाद या तनाव के भी शिकार हो जाते हैं।सर्दियों के अवसाद से पीड़ित लोग ज्यादा चीनी, ट्रांसफैट और सोडियम व ज्यादा कैलोरी वाला आरामदायक भोजन खाने लगते हैं, जो मोटापे, दिल के रोगों और हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों के लिए यह बहुत ही खतरनाक हो सकता है। शरीर के वजन को नियंत्रित रखने की कोशिश करें। शाकाहारी बनें, हरी सब्जियां, सलाद का सेवन करें।

मोटापा न बढ़ने दें

जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या अनुवांशिक है, उन्हें तुरंत अपने वजन पर नियंत्रण कर लेना चाहिए। डायबिटीज का फास्टिंग लेबल 110 के नीचे और खाना खाने के बाद का 180 के नीचे रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को हार्ट अटैक का खतरा रहता है, ब्रेन हेमरेज भी हो सकता है।सर्दी में गर्म कपड़े पहनें, ब्लड प्रेशर कम न होने दें।

नियमित जांच करायें

खून का दौरा (ब्लड सर्कुलेशन) कम हो जाता और इसलिए रक्त धमनियां सिकुड़ जाती हैं। इस कारण दिल के मरीजों में हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है। हृदय रोगियों के लिए आवश्यक है कि इस मौसम में कुछ बातों का खास ख्याल रखें। थोड़ा बहुत शारीरिक व्यायाम अवश्य करें।बाहर सर्दी ज्यादा होने पर घर के अंदर ही व्यायाम करें। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को 40 साल की उम्र के बाद रक्तचाप की जांच कराते रहना चाहिए। नार्मल ब्लड प्रेशर 120/80 होना चाहिए। 150/90 से ऊपर है तो खतरा है। हृदय रोग से बचने के लिए ब्लड प्रेशर, शुगर व कोलेस्ट्रॉल की नियमित जांच कराएं।

खानपान औऱ व्यायाम का रखें ख्याल

बादाम और पिस्ते का सेवन हृदय रोगियों के लिए लाभदायक है। ग्रीन टी का सेवन भी उनके लिए फायदेमंद हो सकता है। सर्दियों में धूप सेंकना बेहद जरूरी है। विटामिन डी के साथ आपको अपने डायट में करौंदा या क्रेनबेरी को भी शामिल करना चाहिए। नियमित रूप से व्यायाम और संतुलित व पौष्टिक भोजन लेना, ऐसी समस्याओं की आशंका को काफी कम कर देते हैं।जंक फूड या फिर चिकनाई युक्त खाना खाने से बचें।फिर भी कोई असुविधा महसूस होने पर डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

इसे भी देखें : भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को ‘जन-जातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा

This post has already been read 14491 times!

Related posts