इंदौर में कोरोना वायरस की जांच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर पथराव

इंदौर। मध्‍य प्रदेश के इंदौर में इस समय कोरोना का कहर सबसे अधि‍क है। हर रोज कई नए संक्रमित सामने आने से इंदौर अब देश के 16 कोरोना हॉटस्पॉट में शामिल हो गया है। कोरोना की जांच करने वाली चिकित्‍सकों की टीम पर भी पथराव करने से लोग पीछे नहीं हट रहे। बुधवार को टाटपट्टी बाखल और सिलावट पुरा में कोरोना वायरस की जांच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। इसी तरह से दो दिन पहले रानीपुरा क्षेत्र में मेडिकल टीम के ऊपर थूकने एवं अपशब्‍द कहने के साथ उन्‍हें लोग मारने के लिए दौड़ पड़े थे। 
यहां बुधवार को  टाटपट्टी बाखल और सिलावट पुरा में कोरोना वायरस की जांच के लिए गई डॉक्टरों की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। ऐसे में चिकित्‍सकों का जांच दल जैसे-तैसे वहां से जान बचाकर भागा। जब पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची तो पथराव करने वालों ने महिलाओं को आगे कर दिया गया। घटना के बाद पूरा इलाका सील कर दिया गया है। यहां लोग बिल्डिंग के ऊपर से पत्थर डॉक्टरों पर पत्थर फेंक रहे थे। 
दरअसल, दोपहर के वक्‍त टाटपट्टी बाखल में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम पहुंची थी वह कुछ महिलाओं को चेकअप के लिए ले जाना चाह रही थी। इसी बात का रहवासियों ने विरोध करना शुरू किया और देखते ही देखते मामला इतना अधिक तूल पकड़ गया कि स्‍थानीय लोगों ने पुलिस के बैरिकेड को तोड़कर टीम पर पथराव कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंचे भारी पुलिस बल ने किसी तरह से मामले को शांत करवाया। इसी तरह की घटना प्रदेश के बड़वानी जिले में भी घटी है, बुधवार जब बड़वानी जिले में मेडिकल टीम स्‍वास्‍थ्‍य जांच के लिए शहर के मौहल्‍लों में पहुंची तो कुछ जगह इन स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों का घोर विरोध किया गया, लोग यहां डॉक्‍टरों से उलझते देखे गए, उसके बाद स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम बिना चेकप किए भी मजबूरन वापिस लौट आई। 

इस संबंध में पुलिसकी ओर से बताया गया कि यहां स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम एक बुजुर्ग महिला को मेडिकल चेकअप के लिए लेकर जाने वाली थी। इसी को लेकर यहां पर लोग जमा हो गए और झगड़ा करने लगे । समझाने के बाद भी कोई समझने को तैयार नहीं था, जहां तक कि इन लोगों ने अपनी नाराजगी पुलिस द्वारा की गई बैरिकेडिंग पर निकाली और उन्‍हें तोड़ दिया। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम पर यहां के लोगों ने पथराव भी किया है । जिसके बाद सूचना मिलने पर बढ़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा और मामले को शांत कराया । 
उधर, मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा छह पर पहुंच गया है। खरगोन जिले के मरीज की दो दिन पहले इंदौर के एक अस्‍पताल में इलाज के दौरान मौत हो हुई थी, उसकी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है, उनकी भी मौत हो चुकी है । जिसके बाद प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 87 पहुंच गई है। 
इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने साफ कह दिया है कि आगामी सात  दिन तक शहर में सख्ती जारी रहेगी। लोग प्रशासन को सहयोग प्रदान करें, हम उनके जीवन की रक्षा के लिए ही कार्य कर रहे हैं। कलेक्टर सिंह ने कहा कि हो सकता है कि शहर में मरीजों का आंकड़ा 100 से 200 तक जाए, लेकिन हम मानसिक तौर पर तैयार हैं। अब तक इंदौर में 625 से अधिक लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है। प्रशासन एवं स्‍वयंसेवी लगातार लोगों को हिम्‍मत देने का काम कर रहे हैं। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है।  गौरतलब है कि इंदौर में बाहर से आए कई लोग रुके हुए हैं और उनके कोरोना संक्रमित होने की आशंका है। इसी कारण टीम ऐसे क्षेत्रों को चिह्नित कर लोगों का का चेकअप कर रही है।

This post has already been read 1227 times!

Sharing this

Related posts