श्री अग्रसेन स्कूल, भुरकुंडा प्रबंधन ने स्कूल के आर्चरी क्लब का नाम दीपिका कुमारी के नाम पर

श्री अग्रसेन स्कूल में रखा गया दीपिका के नाम पर आर्चरी क्लब का नाम
तीरंदाजी की तरह पूरे करें जीवन के लक्ष्य : प्रवीण राजगढ़िया
ओलिंपिक की शुभकामनाओं के लिए बच्चे भेजेंगे दीपिका को हजारों हैंडमेड ग्रीटिंग्स।

भुरकुंडा (रामगढ) : झारखंड की तीन तीरंदाजों दीपिका कुमारी, अंकिता भगत और कोमालिका बारी ने पेरिस में तिरंगा लहराया है. सभी ने मेडल जीतकर पूरे देश को गौरवान्वित करने का काम किया है। सबसे बड़ी बात है कि तीनों झारखंड की बेटियां अपनी सफलता से आज बच्चों की रोल मॉडल बन गई हैं। हर कोई उनके जैसा बनने का सपना देखने लगा है।

पेरिस में तीरंदाजों की सफलता पर श्री अग्रसेन स्कूल, भुरकुंडा प्रबंधन ने स्कूल के आर्चरी क्लब का नाम दीपिका कुमारी के नाम पर करने की घोषणा की है। इस अवसर पर सोमवार को स्कूल प्रांगण में आयोजित तीरंदाजी प्रतियोगिता में कई प्रतिभागी शामिल हुए। इसमें प्रतिभागियों ने लक्ष्य पर निशाना साधने की कोशिश की।

दीपिका के नाम पर तीरंदाजी क्लब का नाम

स्कूल के निदेशक प्रवीण राजगढ़िया ने प्रतिभागियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि दीपिका के नाम पर तीरंदाजी क्लब का नाम रखकर इस बेटी को सम्मान देने की कोशिश की गई हैं। विद्यार्थी तीरंदाजी की तरह अपने जीवन के लक्ष्य को पूरा करें. तीरंदाजी में झारखंड के बेटी दीपिका ने हमारे देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन किया है। उन्हें देखकर यह सीखा जा सकता है कि कैसे हम नियमित अभ्यास और लक्ष्य साधना से किसी भी मंच पर सफलता प्राप्त का सकते हैं।

ज्यादा ख़बरों के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक कर सकते हैं

प्राचार्या नीलकमल सिन्हा ने कहा कि स्कूल में विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण बच्चों को दिया जाता है। तीरंदाजी भी इसमें शामिल है। दीपिका की सफलता पर स्कूल प्रबंधन ने उनके नाम पर तीरंदाजी क्लब का नाम रखने का फैसला किया है। इससे बच्चों में तीरंदाजी के प्रति रूचि और बढ़ेगी। प्राचार्या ने कहा कि आनेवाले समय में दीपिका को विद्यालय प्रबंधन द्वारा सम्मानित भी किया जायेगा।

क्या आप जानते है दुनिया की 5 सबसे अमीर मु,स्‍लिम महिलाओं के बारे में?! पहली बार लिस्ट आई सामने

बताया गया कि उक्त तीरंदाजों का हौसला बढ़ाने के लिए स्कूल के बच्चों द्वारा हैंडमेड ग्रीटिंग्स भेजा जाएगा। हमें पूरी उम्मीद है कि ओलिंपिक में भी हमारी बेटियां देश को मेडल दिलाने में कामयाब रहेंगी।

This post has already been read 1966 times!

Sharing this

Related posts