Maharashtra : शिवसेना ने अपनी भूमिका में बदलाव नहीं किया है: उद्धव ठाकरे

मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना ने अपनी भूमिका में किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया है। उन्होंने शिवनेरी व एकवीरा देवी का दर्शन किया। उसके बाद अयोध्या गए थे। इसके एक साल के अंदर राम मंदिर निर्माण का निर्णय हुआ और उन्हें मुख्यमंत्री पद भी मिला है। यह सब छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्मभूमि शिवनेरी की मिट्टी का ही कमाल है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे शुक्रवार को दादर स्थित शिवसेना भवन में शिवसेना के 54वें स्थापना दिवस पर शिवसैनिकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से आज भले ही मुंह पर मास्क लग गया है लेकिन उनकी आवाज कोई बंद नहीं कर सकता। शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे के दिखाए रास्ते पर ही वह चल रहे हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनके साथ धोखा किया गया, इसी जिद से वह मुख्यमंत्री बने हैं। अन्याय सहन करने की कमजोरी शिवसेना में नहीं है। कोई भी हमारे साथ विश्वासघात करेगा तो हम उसे सहन करें, इतने लाचार नहीं हैं। उद्धव ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नहीं बनना है, लेकिन शिवसैनिक प्रधानमंत्री बने, इसका प्रयास हमें करना होगा। देश पर इस समय कोरोना का संकट है, चीन का भी संकट है। इस संकट का सामना करने के लिए महाराष्ट्र हर स्तर पर देश के साथ है। मुंबई सहित राज्य में शिवसैनिक कोरोना की लड़ाई में सबसे आगे है। सभी शिवसेना स्थानीय कार्यालयों पर आम नागरिकों को हर तरह की मदद की जा रही है।

This post has already been read 1480 times!

Sharing this

Related posts