रूट का दोहरा शतक, इंग्लैंड 476 रन पर सिमटा

हैमिल्टन। कप्तान जो रूट के तीसरे दोहरे शतक की बदौलत इंग्लैंड ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन चाय से पहले 476 रन बनाकर न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी के आधार पर 101 रन की बढ़त हासिल की। रूट (226) ने ओली पोप (75) के साथ छठे विकेट के लिए 193 रन की साझेदारी की। इंग्लैंड की टीम चौथे दिन चाय से ठीक पहले आउट हो गई। मेहमान टीम की नजरें अब यह टेस्ट जीतकर श्रृंखला बराबर कराने पर टिकी हैं। अपनी इस पारी के दौरान रूट साढ़े 10 घंटे से अधिक समय पर क्रीज पर रहे। उन्होंने इस दौरान 441 गेंद का सामना करते हुए 22 चौके और एक छक्का मारा। रूट उस समय क्रीज पर उतरे थे जब दूसरे दिन इंग्लैंड की टीम 24 रन पर दो विकेट गंवाकर संकट में थी। इस पारी से पहले रूट खराब फार्म से जूझ रहे थे और जुलाई से पिछली 14 पारियों में सिर्फ 26.5 के औसत से 321 रन बना पाए थे। उन्होंने अपना पिछला शतक फरवरी में वेस्टइंडीज के खिलाफ जड़ा था। रूट का यह तीसरा दोहरा शतक है। इससे पहले वह 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ 254 और 2014 में लार्ड्स में श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 200 रन की पारियां खेल चुके हैं। रूट ने केविन पीटरसन के तीन दोहरे शतक की बराबरी की लेकिन वह वाल्टर हैमंड और एलिस्टेयर कुक से पीछे हैं जिन्होंने इंग्लैंड के लिए पांच-पांच दोहरे शतक जमाए। इंग्लैंड ने दिन की शुरुआत पांच विकेट पर 269 रन से की। न्यूजीलैंड के गेंदबाज पहले सत्र में कोई सफलता हासिल नहीं कर पाए। पोप चौथे दिन आउट होने वाले पहले बल्लेबाज रहे। वह नील वैगनर (124 रन पर पांच विकेट) की बाउंसर को पुल करने की कोशिश में डीप मिडविकेट पर जीत रावल को कैच दे बैठे। रूट भी एक ओवर बाद बायें हाथ के स्पिनर मिशेल सेंटनर (88 रन पर एक विकेट) की गेंद पर डीप कवर में हेनरी निकोल्स को कैच दे बैठे। रूट के आउट होने के बाद वैगनर ने क्रिस वोक्स (00), जोफ्रा आर्चर (08) और स्टुअर्ट ब्राड (00) को जल्दी पवेलियन भेजकर इंग्लैंड की पारी का अंत किया। वैगनर ने नौवीं बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए।

This post has already been read 377 times!

Sharing this

Related posts