विकास दुबे गिरफ्तारी मामले में प्रियंका ने उप्र सरकार को बताया फेल, सीबीआई जांच की मांग

नई दिल्ली : कानपुर मामले में मुख्य आरोपित विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद भी विपक्ष लगातार उत्तर प्रदेश सरकार के प्रति हमलावर है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि पूरे मामले में जिस तरह प्रदेश सरकार को मुस्तैदी दिखानी चाहिए थी उसे वह विफल रही है। उन्होंने आरोपित के उज्जैन तक पहुंचने को लेकर मिलीभगत का भी इशारा किया है। इतना ही नहीं प्रियंका ने पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है।

प्रियंका गांधी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि तीन महीने पुराने पत्र पर ‘नो एक्शन’ और कुख्यात अपराधियों की सूची में ‘विकास’ का नाम न होना बताता है कि इस मामले के तार दूर तक जुड़े हैं। उप्र सरकार को मामले की सीबीआई जांच कराकर सभी तथ्यों और प्रोटेक्शन के ताल्लुकातों को जगजाहिर करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि कानपुर के जघन्य हत्याकांड में उत्तर प्रदेश सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, उसमें वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपित का उज्जैन तक पहुंचना, न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है।

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि खबर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की कॉल डिटेल रिकॉर्ड सार्वजनिक करे, जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर और कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के अभियुक्त विकास दुबे को मध्य प्रदेश की उज्जैन पुलिस ने दो अन्य साथियों के साथ गुरुवार सुबह गिरफ्तार किया है। मध्य प्रदेश पुलिस विकास दुबे को सीधा उप्र पुलिस को सौंपेगी।

This post has already been read 1516 times!

Sharing this

Related posts