सियासी घमासान : गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने पद से दिया इस्तीफा ,कुछ ही देर में प्रेस कांफ्रेंस

National : गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। रुपाणी का इस्तीफा ऐसे वक्त में आया है, जब अगले वर्ष राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं। उनके मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देने के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है। रुपाणी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का करीबी माना जाता है।

और पढ़ें : काम की बात : बहुत ही जल्द कम होंगे खाने के तेलों के दाम, जाने कैसे

गुजरात की सियासत में एक दिलचस्प बात यह भी रही है कि नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद यहां कोई भी मुख्यमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है। मोदी के बाद आनंदी बेन पटेल और फिर विजय रूपाणी ने राज्य की सत्ता संभाली थी।

रूपाणी ने दो बार संभाला सीएम पद
रूपाणी ने 7 अगस्त 2016 को पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इसके बाद 2017 में राज्य में विधानसभा चुनाव हुए थे। इसमें भाजपा ने बहुमत हासिल कर सरकार बनाई थी। भाजपा ने गुजरात में 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था। विधानमंडल दल की बैठक में रुपाणी को विधायक दल का नेता और नितिन पटेल को उपनेता चुना गया था। रुपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

इसे भी देखें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर लाठीचार्ज, बेहोश होकर सड़क पर गिरे, इस पर संसदीय कार्य मंत्री ने क्या कहा

पिछले महीने ही रूपाणी ने सीएम के तौर पर 5 साल पूरे किए थे। सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद उन्होंने कहा कि अब उन्हें जो भी जिम्मेदारी मिलेगी, वह उसे पूरी ईमानदारी से निभाएंगे। उन्होंने कहा कि सीएम रहते हुए उन्हें गुजरात की जनता का भरपूर समर्थन मिला। राज्य के विकास में योगदान करने का भी उन्हें मौका मिला।

This post has already been read 11038 times!

Related posts