Ramgarh : पांडे गिरोह ने एसपी को दिखाया ठेंगा, मोबाइल क्रेशर कंपनी से मांगी रंगदारी

रामगढ़।  जिले में आपराधिक गिरोह का आतंक चरम पर है। उनके इस आतंक से व्यवसाई भी थर्राने लगे हैं। अपराधी जेल में हो या सड़कों पर, रामगढ़ एसपी की सारी सुरक्षा व्यवस्था को ठेंगा दिखाते हुए रंगदारी वसूल रहे हैं। इसका स्पष्ट उदाहरण भुरकुंडा ओपी क्षेत्र में देखने को मिला है। यहां सीसीएल में काम कर रही एसएसईपीएल मोबाइल क्रेशर कंपनी को पांडे गिरोह ने साफ कह दिया कि रंगदारी नहीं दिया तो क्रेशर चालू भी नहीं करना है। उनका आतंक ऐसा है कि अभी तक वहां काम भी शुरू नहीं हो पाया है। यहां तक कि पांडे गिरोह के डर के कारण उस पूरे इलाके में पुलिस को ना तो कोई गवाह मिला और ना ही एफ आई आर दर्ज कराने के लिए कंपनी का ही कोई मुलाजिम सामने आया। अंत में थक हार कर भुरकुंडा पुलिस ने खुद ही प्राथमिकी दर्ज की। इस प्राथमिकी में पांडे गिरोह के सरगना विकास तिवारी का नाम सामने आया है। उसका पूरा गिरोह रामगढ़ जिले के व्यवसायियों पर हावी है।

कंपनी के मैनेजर को मिली जान से मारने की धमकी
भुरकुंडा पुलिस ने जो प्राथमिकी दर्ज की है उसमें कहा है कि कंपनी के मैनेजर को जान से मारने की धमकी भी मिली है। साथ ही सेंट्रल सोंदा स्थित मैनेजर के आवास पर भी दिनदहाड़े अपराधियों ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया था। अपराधियों ने यहां तक कह दिया था कि अगर यहां काम करना है, तो उन्हें रंगदारी हर हाल में देना होगा। अपराधियों के डर से वहां मौजूद कोई भी व्यक्ति पुलिस से बात भी नहीं कर रहा था। उस क्षेत्र में काम करने वाले व्यवसायियों के लिए यह संकेत अच्छे नहीं हैं। मोबाइल क्रशर कंपनी का काम बंद होना ना सिर्फ अपराधियों के मनोबल को बढ़ा रहा है, बल्कि पुलिस की नाकामी को भी साफ दर्शा रहा है।

This post has already been read 1312 times!

Sharing this

Related posts