अमृत वाहनी वेबसाइट और एप्प से सभी अस्पतालों में कोविड बेड की उपलब्धता की जानकारी के साथ ऑनलाइन बुकिंग की होगी सुविधा

  • मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने अमृत वाहिनी वेबसाइट, एप्प और चैटबोट का लोकार्पण किया.
  • इस एप्प के माध्यम से मरीजों को आवश्यक चिकित्सीय संसाधन ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएगी.
  • अमृत वाहनी वेबसाइट और एप्प- http;//amritvahini.in पर राज्य के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड सामान्य बेड, ऑक्सीजन युक्त बेड, आईसीयू बेड और वेंटिलेटर बेडों के उपलब्धता की रियल टाइम जानकारी मिल सकेगी.
  • व्हाट्स एप्प चैटबोट नंबर 8595524447 पर ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श ले सकते हैं. इसके साथ दवाईयों, आहार चार्ट, जिला कंट्रोल रुम से संपर्क, प्लाज्मा दान, होम आइसोलेशन किट से संबंधित जानकारी प्राप्त का जा सकती है.

सर्दी, जुकाम और बुखार को हल्के में न लें. ऐसा लक्षण पाए जाने पर तुरंत अपने को आइसोलेट कर लें और कोरोना टेस्ट कराएं.
◆ कोविड-19 के इस दौर में संवेदनशीलता और सहनशीलता के साथ सरकार व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने तथा कारगर बनाने का कर रही काम – हेमन्त सोरेन
मुख्यमंत्री, झारखंड

इस करोना की दूसरी लहर में लोग हॉस्पिटल में बेड के लिए इधर उधर भटकते है जिसके चलते मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने राज्य में कोविड-19 के लगातार बढ़ रहे संक्रमण के बेहतर उपचार और आवश्यक चिकित्सीय संसाधन ऑनलाइन माध्यम से उपलब्ध कराने के उदेश्य से आज अमृत वाहिनी वेबसाइट, एप्प और चैटबोट का उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि कोरोना पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार लगातार प्रयास कर रही है. इस दिशा में कई कारगर व्यवस्थाएं स्थापित की गई हैं, जिसका फायदा राज्यवासियों को हो रहा है. इसी क्रम मे अमृत वाहिनी के जरिए एक औऱ कदम आगे बढ़े हैं. इस वेब पोर्टल और मोबाइल एप्प तथा चैटबोट के माध्यम से अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड और वेंटिलेटर युक्त आईसीयू की उपलब्धता और उसकी ऑनलाइन बुकिंग कराई जा सकती है. वहीं, व्हाट्स एप्प चैटबोट के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श के साथ कोविड से संबंधित सभी जानकारी मोबाइल पर उपलब्ध कराई जाएगी.

स्वास्थ्य सुविधाएं की चुनौतियों से निपटने के लिए उठाए जा रहे कई कदम

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है, सरकार भी उसी गति के साथ इससे निपटने के लिए काम कर रही है. इस सिलसिले में अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड और वेंटिलेंटर निरतंर बढ़ रहे हैं. संक्रमितों को बेहतर और समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं देने का प्रयास लगातार जारी है. आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को कोविड मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है. अबतक लगभग 43 हजार लोगों को यह उपलब्ध कराया जा चुका है. वहीं कोविड सर्किट के माध्यम से 800 से ज्यादा संक्रमितों को ऑक्सीजन युक्त बेड उपलब्ध कराया जा चुका है. संजीवनी वाहन के माध्यम से अस्पतालों के लिए इमरजेंसी में चौबीस घंटे ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है. वहीं निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए 70 प्रतिशत बेडों को आरक्षित करने का निर्देश दिया जा चुका है.

सर्दी, जुकाम और बुखार को हल्के में न लें

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से आग्रह किया कि वे सर्दी, जुकाम और बुखार को कदापि हल्के में न लें. यह कोरोना का लक्षण हो सकता है. अगर किसी में ये लक्षण हैं तो वे तुरंत अपने को आइसोलेट कर लें और कोरोना टेस्ट कराएं. इससे ना सिर्फ आप अपने को बचा सकते हैं बल्कि परिवार को भी सुरक्षित रख सकते हैं. उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में लोग हतोत्साहित हो रहे है. मेरा लोगों से आग्रह है कि वे घबराएं नहीं. सरकार उनकी मदद के लिए पूरी तरह तैयार है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान हालात में काफी संवेदनशीलता और सहनशीलता के साथ काम करने की जरूरत है. सभी के सहभागिता और सहयोग से कोरोना को काबू में कर सकते हैं.

ये भी जरुर देखे……

राज्य सरकार के व्हाट्स एप्प नंबर पर आपको क्या मिलेगा फायदा || Covid 19 || Jharkhand || AVNPost.com

कंटेनर एवं कार में भीषण टक्कर, कार सवार की मौत || Road Accident || Ranchi || AVNpost.com

अमृत वाहिनी वेबसाइट, एप्प और चैटबोट से मिलेंगी ये सुविधाएं
अमृत वाहनी वेबसाइट और एप्प- http;//amritvahini.in पर राज्य के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में कोविड सामान्य बेड, ऑक्सीजन युक्त बेड, आईसीयू बेड और वेंटिलेटर बेडों के उपलब्धता की रियल टाइम जानकारी मिल सकेगी. इसके साथ बेडों की ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा भी लोगों को होगी. जो संक्रमित आइसोलेशन में हैं , इसके जरिए कोरोना मेडिकल किट प्राप्त कर सकते हैं. वहीं, व्हाट्स एप्प चैटबोट नंबर 8595524447 पर ऑनलाइन चिकित्सीय परामर्श ले सकते हैं. इसके साथ दवाईयों, आहार चार्ट, जिला कंट्रोल रुम से संपर्क, प्लाज्मा दान, होम आइसोलेशन किट से संबंधित जानकारी प्राप्त का जा सकती है. वहीं अस्पतालों द्वारा रेमडेसिविर दवा की मांग और प्रबंधन की मॉनिटरिंग भी इसके जरिए होगी.

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता, विकास आय़ुक्त-सह- स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का और नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव श्री विनय कुमार चौबे मौजूद थे.

This post has already been read 2445 times!

Sharing this

Related posts