Jamshedpur : अब फिल्मों में भी भाग्य आजमाएंगी जमशेदपुर की बेटी अंकिता सिन्हा

मुंबई के फिल्म निर्देशक मनोज एस तोमर की फिल्म शिकारी में दिखेंगी अंकिता

जमशेदपुर। जब दिल में कुछ कर गुजरने की जुनून हो तो उसे सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। साहित्य के क्षेत्र में काव्य पाठ के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने वाले जमशेदपुर की कवयित्री अंकिता सिन्हा फिल्मी दुनिया में भी अपना भाग्य आजमाएंगी।

मुंबई के फिल्म निर्देशक मनोज एस तोमर ने अंकिता सिन्हा को अपनी फिल्म शिकारी में अपनी प्रतिभा को निखारने का मौका शहर की साहित्यकार और कवयित्री अंकिता सिन्हा को दिया है। फिल्म निदेशक मनोज एस तोमर की शिकारी चौथी फिल्म है। अनीता सीने इंटरटेनमेंट के बैनर तले चल रही भोजपुरी फिल्म शिकारी शूटिंग मुंबई में आधी से अधिक पूरी हो चुकी है। शिकारी फिल्म में हीरो के रूप में मुकेश ओझा और हीरोइन के रूप में चर्चित भोजपुरी स्टार संचिता बनर्जी और मनी भट्टाचार्य के अलावा अन्य कलाकार काम कर रहे हैं।

इस फिल्म में अंकिता सिन्हा को फिल्म निर्देशक मनोज एस तोमर ने रोल दिया है, जिसकी शूटिंग दिसंबर महीने से बंगाल के कोलकाता, झारखंड के गिरिडीह और रांची में होगी। शिकारी की अंतिम शूटिंग लद्दाख में करने की तैयारी है। इस फिल्म में अपने अभिनय को निखारने के लिए अंकिता सिन्हा बहुत ही उत्सुक है।

बिहार के गया में जन्मी अंकिता सिन्हा अपने पिता रामप्रवेश प्रसाद और माता शकुंतला देवी के साथ रांची में रहकर स्नातक तक की शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद अंकिता सिन्हा ने लौहनगरी जमशेदपुर को अपना कर्मस्थली बनाया। वह टाटा एआईजी में पिछले 9 वर्षों से सीनियर एडवाइजर के पद पर कार्यरत है। इसके साथ ही साहित्य के क्षेत्र में लग्न और कठिन परिश्रम के बल पर अपने आप को काव्य पाठ के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने में सफल रही।

This post has already been read 2342 times!

Sharing this

Related posts