निकोलाई सनसारेव बने भारतीय एथलेटिक्स टीम के मध्यम और लंबी दूरी के कोच

नई दिल्ली :  सरकार ने भारतीय एथलेटिक्स टीम के मध्यम और लंबी दूरी के कोच के रूप में बेलारिसियन कोच निकोलाई सनसारेव की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है। 72 वर्षीय निकोलाई को सितंबर के अंत तक इस पद पर रहेंगे। इस बीच जुलाई-अगस्त माह में टोक्यो ओलंपिक भी होना है। वह 3000 मीटर स्टीपलचेयर अविनाश सेबल को कोचिंग देंगे, जिन्होंने पहले ही ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। साथ ही अन्य मध्य और लंबी दूरी के धावकों को भी ये प्रशिक्षण देंगे, जिनका लक्ष्य ओलंपिक खेलों के लिए क्वालीफाई करना है।

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अदिले सुमारिवाला ने सनसारेव की नियुक्ति की सराहना की और उम्मीद जताई कि इनका अनुभव मध्यम और लंबी दूरी के भारतीय धावकों के प्रदर्शन को और बेहतर करेगा। सुमारिवाला ने कहा, “अविनाश सेबल निकोलाई के साथ फिर से प्रशिक्षण लेना चाहता है और हमें उम्मीद है कि इससे उसे और बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।”
सुमारिवाला ने कहा कि निकोलाई का भारत के साथ और हमारे मध्यम और लंबी दूरी के धावकों के साथ वर्षों का अनुभव रहा है। उन्होंने ललिता बाबर जैसे एथलीटों की मदद की है, जिसने 2016 ओलंपिक खेलों में स्टीपलचेज़ में शीर्ष 10 में जगह बनाई थी। इसके अलावा सुधा सिंह ने भी बेहतर परिणाम दिए थे।
उल्लेखनीय है कि सनसारेव पहली बार साल 2005 में भारतीय एथलेटिक्स से जुड़े थे। तब से लगातार उनके अनुभव और प्रशिक्षण का फायदा भारतीय खिलाड़ियों को मिला है। उनकी कोचिंग से कई एथलीट ने अपने हुनर को तराशा है, जिसमें पूजा श्रीधरन और कविता राउत का नाम प्रमुख है।

This post has already been read 1024 times!

Sharing this

Related posts