भूमाफियाओं का नया कारनामा,मुर्दे के नाम पर बनाया फर्जी हुक्मनामा

चतरा : कान्हाचट्टी अंचल के ढेबरो गांव के खाता नम्बर 15 प्लॉट नम्बर 137 व 02 के कुल रकवा 33 एकड़ ग़ैरमजरूवा भूमि पर शनिवार को उपायुक्त के निर्देश पर कान्हाचट्टी अंचल अधिकारी पप्पू रजक ने उक्त भूमि पर बोर्ड लगवा कर सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों को अंचल अधिकारी ने चेताया कि उक्त खाता प्लॉट की जमीन सरकार की जमीन है तथा उक्त खाता प्लॉट की जमीन सरकार का ही रहेगा। 
अंचल अधिकारी ने अंचल निरीक्षक शशिकांत पांडेय एवं राजस्व कर्मचारी अभय कुमार ने ढेबरो के उक्त सरकारी जमींन मे बोर्ड लगाया।
बोर्ड में अंचल द्वारा अंकित किया गया है कि खाता 15 के प्लॉट 137 एवं 02 रकवा 33 एकड़ जमीन सरकार का है और जो उक्त खाता प्लॉट के जमीन को जोतेगा या खेती बारी करेगा उसपर अंचल प्रशाशन विधि संवत कार्रवाई करेगी।
 अंचल अधिकारी पप्पू रजक ने बताया कि उक्त खाता प्लॉट की जमीन पर ही सरकार के द्वारा पावर सबस्टेशन का निर्माण एक वर्ष पूर्व किया गया है।
पावर सब स्टेशन के उक्त जमीन को ढेबरो के रमन सिंह,बालचन्द यादव,केशर यादव,टुकन यादव,सकलदेव यादव,आदि ने बाजबर्दस्ती फर्जी कागजात बनाकर जमीन को अपना बताकर अवैध रूप से कब्जा जमाए हुए है।  बाद गांव के अन्य लोगो ने इसकी शिकायत अंचल अधिकारी से लेकर एल आर डी सी,ए सी एवं उपायुक्त  तक की उतने के बाद भी जांच नहीं हुआ तो ग्रामीणों ने उतरी छोटानागपुर के कमिश्नर को आवेदन देकर उक्त जमीन को बचाने का गुहार लगाई।
कमिश्नर के आदेश पर उस समय के तत्कालीन अंचल अधिकारी ने जांच कर रिपोर्ट उपयुक्त को भेजे जिस रिपोर्ट को उपायुक्त ने कमिश्नर को भेज दिए जिसके बाद वर्ष 2011-12 और 13 में कमिश्नर के आदेश पर फर्जी कागजात को नीरस्त कर देने का आदेश दिए जिसके बाद सभी फर्जी कागजातों के जांचों प्रान्त डिमांड और उनके जमीन के कागज को फर्जी करार देकर जमीन सरकार को हस्तगत करने का निर्देश भी कमिश्नर ने दिया था।
जिसके बाद वर्षब2017-18 में उक्त जमीन पर तत्कालीन अंचल अधिकारी शालिनी खलखो ने पुलिस बल लाकर जमीन को भूमाफियाओं से अतिक्रमण मुक्त करने के लिए अभियान चलाए और सरकारी जमीन को ट्रेंच कर अपने कब्जे में लिए और उसी जमीन पर पावर सबस्टेशन का भी निर्माण हुआ।
 गलत कागज बनाकर भूमाफियाओं ने ढेबरो के 33 एकड़ जमीन को भले ही हड़पना चाह रहे थे लेकिन सरकार ने उनके डिमांड को रद्द कर उनके किए पर पानी फेर दिया।
वर्ष 2017-18 में पावर सबस्टेशन के लिए जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया जा रहा था तो उसी समय उक्त सरकार की जमीन को कब्जा करने वालो ने बिचौलिए के बहकावे में आकर अंचल अधिकारी पर ही मुक़दमा कर डाला था । 
 15 व प्लॉट 137 व 2 कि 33 एकड़ जमीन को कब्जा करने के लिए भूमाफियाओं ने जो बीस वर्ष पहले मर चुका है उसके नाम पर ही फर्जी हुक्मनामा बनाकर जमीन का कब्जा कर रखे थे।
लेकिन जब वर्ष 2012- 13 में तत्कालीन अंचल अधिकारी कमलेश्वर नारायण ने कमिश्नर के आदेश पर जांच किए तो लक्ष्मण महतो के नाम पर बनाया गया हुक्मनामा फर्जी पाया गया।
भूमाफियाओं ने जिस वर्ष का हुकुमनामा अंचल में दिया गया था तथा जिसके नाम पर बनाया गया था उसकी मृत्यु आठ वर्ष पूर्व ही हो चुकी थी।इसकी पुष्टि भी अंचल अधिकारी ने लक्ष्मण महतो के बिरखोद के शिलापट्ट से किया गया था ।

This post has already been read 1178 times!

Sharing this

Related posts