बच्चों की रचनात्मकता को बढ़ावा देने के लिए ‘राष्ट्रीय बाल भवन’ शुरू करे एक राष्ट्रीय पुरस्कार : निशंक

नई दिल्ली :  केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बच्चों में रचनात्मक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय बाल भवन (एनबीबी) को राष्ट्रीय स्तर का एक पुरस्कार शुरू करने की सलाह देने के साथ ही एनबीबी के रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया है। 
केंद्रीय मंत्री निशंक ने मंगलवार को यहां एनबीबी की समीक्षा बैठक में कहा कि राष्ट्रीय बाल भवन बच्चों के लिए विभिन्न रचनात्मक गतिविधियों को सीखने का एक बेहतरीन मंच है और हमें इसकी गतिविधियों का विस्तार क्षेत्रीय केंद्रों में भी करना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक बच्चों को इस मंच का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि बच्चों के बीच रचनात्मक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय बाल भवन को बच्चों के लिए एक राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार शुरू करना चाहिए और अधिकारियों को इस मामले में एक योजना बनाने का निर्देश देना चाहिए।
पोखरियाल ने अधिकारियों से यह पता लगाने के लिए कहा है कि हम अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बाल भवन की गतिविधियों को कैसे बढ़ावा दे सकते हैं। शिक्षा मंत्री ने राष्ट्रीय बाल भवन के रिक्त पदों की भी समीक्षा की और अधिकारियों को रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया है।
मंत्री ने अधिकारियों को वेबिनार के माध्यम से छात्रों के लिए सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों पर ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया, ताकि वे हमारे देश के विभिन्न सांस्कृतिक पहलुओं को सीखते रहें। बैठक के दौरान शिक्षा मंत्री ने राष्ट्रीय बाल भवन की विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा की और अधिकारियों को वर्तमान परिदृश्य में बाल भवन की गतिविधियों को तेज करने का निर्देश दिया।उन्होंने पिछले दो वर्षों में बाल भवन द्वारा की गई प्रगति, इसके वर्तमान सदस्यता विवरण और प्रशिक्षण प्रोह्रामम्स का भी आकलन किया। बैठक में स्कूल शिक्षा सचिव अनीता करवाल, संयुक्त सचिव, स्कूल शिक्षा आरसी मीणा और राष्ट्रीय बाल भवन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। 

This post has already been read 596 times!

Sharing this

Related posts