मुस्लिमों ने घरों पर अदा की नमाज, मांगी कोविड 19 से निजात की दुआ

राँची। रमजान माह के अंतिम जुमे (अलविदा जुमा) पर शुक्रवार को पुलिस प्रशासन ने पूरी सतर्कता बरती। सख्ती के चलते मुस्लिमों ने मस्जिदों की बजाय अपने घरों में अलविदा जुमे की नमाज अदा की।
अलविदा जुमे को लेकर पुलिस प्रशासन ने पूरी सतर्कता बरती। शुक्रवार को अलविदा जुमे पर पहली बार हुआ जब लोगों को मस्जिदों में नहीं, अपने घरों पर नमाज अदा करनी पड़ी। नमाज के दौरान मुसलमानो ने देश और दुनिया को कोविड-19 से निजात दिलाने के साथ अमन चैन की दुआ की।

देवबंद समेत लगभग सभी मसलकों के उलेमाओं ने कोविड-19 के मद्देनजर घोषितलॉक डाउन के नियमों व सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करते हुए सभी मुसलमानो से घरों में ही नमाज अदा करने की अपील जारी की थी। यह अपील सभी मस्जिदों के इमामों व मौजिज लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को भेजी।

सभी इमामों ने अपने-अपने क्षेत्रों के मुसलमानों से मस्जिदों के बजाय घरों पर ही नमाज अदा करने को कहा था। जिसका असर शुक्रवार को दिखाई दिया। मुसलमानों ने अपने-अपने घरों में ही अपने परिजनों के साथ जुमा अलविदा की नमाज अदा की, जबकि मस्जिदों में इमाम, मौज्जिन (अजान देने वाला) व खादिम (मस्जिद की सफाई आदि का काम करने वालों ) ने ही नमाज अदा की।

This post has already been read 377 times!

Sharing this

Related posts