पुरुषों की एकदिनी अंतरराष्ट्रीय मैच में पहली महिला अंपायर बनी पोलोसेक

दुबई। नामीबिया और ओमान के बीच आज खेले जा रहे विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन 2 के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया की क्लेयर पोलोसेक अंपायर के रूप में मैदान पर उतरीं। इसी के साथ वह पुरुषों की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बन गईं। विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन 2 के फाइनल में अंपायर नियुक्त किये जाने पर पोलोसेक ने कहा कि मेरे लिए यह अविश्वसनीय रूप से अप्रत्याशित है। मैं हमेशा से क्रिकेट फॉलो करती थी। मेरे माता-पिता ने मुझे प्रोत्साहित किया। मेरे पिता मुझे अंपायरिंग का कोर्स करवाने ले जाते थे। मुझे टेस्ट पास करने में एक से अधिक मौके लगे लेकिन मैं यही काम करना चाहती थी। मैंने इस पर लगातार मेहनत की। उल्लेखनीय है कि इससे पहले उन्होंने वर्ष 2017 में सिडनी में न्यू साउथ वेल्स और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया एकादश के बीच एकदिनी मैच में अंपायरिंग कर चुकी हैं। वह इंग्लैंड में हुए महिला क्रिकेट विश्व कप के चार मैचों में भी अंपायरिंग कर चुकी हैं।

This post has already been read 6926 times!

Sharing this

Related posts