छोटी परेशानी बड़ी बीमारी का सिग्नल तो नहीं

सामान्य तौर पर लोगों को जुकाम, खांसी, बुखार और सर्दी जैसी बीमारियां तो होती ही रहती हैं। इसलिए इससे बचने के लिए हम कोई न कोई उपाय कर लेते हैं। मगर इसके अलावा कई अन्य बीमारियां भी हैं जो सामान्य या छोटी लगती हैं, ऐसे में इनके लक्षण जानना बेहद जरूरी है। ताकि आगे चलकर यह समस्या बड़ी न हो जाए। आइए जानते हैं कुछ सामान्य लक्षण, जिनके बारे में जानकारी होनी चाहिए…

ऐंठन या जकड़न

अगर मांसपेशियां ज्यादा जकड़ जाएं तो यह दर्दभरा हो सकता हैद्य मांसपेशियों में जकड़न तनाव, दवा, और ज्यादा योग करने से हो सकती है। इसलिए ज्यादा से ज्यादा तनाव लेने से बचें।

चक्कर आना

चक्कर आने को डिसओरियंटेशन इन स्पेस के नाम से भी जाना जाता है, यह अस्थिरता की स्थिति है, जिसमें सिर में कुछ मूवमेंट होने लगता है और चक्कर आने लगता है। इससे आपका संतुलन बिगड़ जाता है और आप गिर भी सकते हैं।

सांस लेने में दिक्कत

यह सीटी जैसी आवाज है, जो कि फेफड़ों से आने वाली हवा के एक या ज्यादा तरफ से रुकने के कारण आती है। ऐसे लोग, जिनको घरघराहट होती है उन्हें सांस लेने में भी भारीपन होता है।

अनिद्रा

यह सोने से संबंधित समस्या है। अगर अनिद्रा की समस्या काफी लंबे समय के लिए हो और गंभीर रूप से आपके जीवन को प्रभावित कर रही है तो यह एक बहुत गंभीर समस्या है। सही समय पर डॉक्टर की सलाह लें।

झनझनाहट

झनझनाहट से शरीर के कुछ हिस्से में पिन चुभने जैसा महसूस होता है। इसका संबंध नर्वस सिस्टम से है। यह नस में चोट लगने या नस के दबने से हो सकती है।

गैस की प्रॉब्लम

पेट में हलचल, या गैस भी आपको परेशान कर सकती हैद्य अधिकतर बार-बार यह खाने पर होती है या खाने के न पचने पर यह समस्या होती है।

उबकाई या मितली

ऐसा होने पर पेट के ऊपरी भाग और सिर में असहज स्थिति पैदा होती है, जिससे उलटी करने की इच्छा होती है। खान-पान पर ध्यान दें और ज्यादा परेशानी होने पर डॉक्टर से मिलें।

थकान

थकान से मतलब थकावट, सुस्ती, आलस, और शारीरिक व मानसिक कमजोरी की स्थिति हैद्य थकान दो तरह की होती है – मानसिक और शारीरिक। थोड़ा घूम-फिर लेने से आराम मिल जाता है।

This post has already been read 1675 times!

Sharing this

Related posts