लालू का दूसरे वर्ष भी रिम्स में ही मना मकर संक्रांति

रांची। राजद सुप्रीमो व चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव का दूसरे वर्ष भी  रिम्स के पेईंग वार्ड मेंमकर संक्रांति मना। रिम्स में लालू के समर्थकों की भीड़ उमड़ पड़ी। रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद के स्वास्थ्य को देखते हुए डॉक्टरों ने उनके खाने-पीने पर काफी पाबंदी लगा रखी है। वे शुगर के मरीज हैं और उन्हें रोजाना 80 से 82 यूनिट इंसुलिन दी जाती है।

लालू बिहार के पटना में मकर संक्रांति अपने आवास में बड़े ही धूमधाम से मनाते थे। चूड़ा-दही का भोज आयोजित करते थे। उसे यादकर उनके समर्थक भावुक हो गये। लालू रांची के रिम्स में भर्ती हैं और चारा घोटाले के मामले में सजा काट रहे हैं। मकर संक्रांति के मौके पर उनके समर्थक चूड़ा-दही और सब्जी लेकर रिम्स पहुंचे और गरीबों के बीच इन्हें वितरित किया। राजद के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि राजद सुप्रीमो मकर संक्रांति मनाये। लालू हर साल इस त्योहार को धूमधाम से मनाते रहे हैं,  लेकिन दो साल से इस त्योहार को परिवार के साथ नहीं मना पा रहे हैं।

रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद के स्वास्थ्य को देखते हुए डॉक्टरों ने उनके खाने-पीने पर काफी पाबंदी लगा रखी है। वह शुगर के मरीज हैं और उन्हें रोजाना 80 से 82 यूनिट इंसुलिन दी जाती है। रिम्स के अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप ने बताया कि उनकी तमाम बीमारियों को देखते हुए उन्हें सीमित मात्रा में दही-चूड़ा और तिलकुट तथा मिठाई खाने की छूट दी गई है। अगर इसकी मात्रा थोड़ी सी भी ज्यादा हुई, तो उनकी सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है।

उल्लेखनीय है कि चारा घोटाला के चार मामलों में रांची के बिरसा मुंडा जेल में सजा काट रहे लालू रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं। उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां हैं। इसलिए जेल प्रशासन की देखरेख में उनका रिम्स में इलाज चल रहा है।

लालू गरुवार को होंगे कोर्ट में पेश

लालू गुरुवार को सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश एसके शशि की अदालत में पशुपालन घोटाला से जुड़े सबसे बड़ा मामला (कांड संख्या आरसी – 47 ए /96) में 16 जनवरी को कोर्ट में उपस्थित होकर बयान दर्ज करायेंगे।

यह मामला डोरंडा कोषागार से लगभग 139 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है। इस मामले में लालू प्रसाद , तत्कालीन पशु पालन मंत्री विद्यासागर निषाद , पूर्व सांसद जगदीश शर्मा  सहित कई आइएएस अधिकारी व आपूर्तिकर्ता  सहित 113 आरोपी है।  अब इस मामले में कुछ ही आरोपियों का बयान दर्ज होना बचा हुआ है। मामले के आरोपी  पशुपालन विभाग के तत्कालीन क्षेत्रीय निदेशक जुनूल भेंगराज एवं केएम प्रसाद,पूर्व सांसद जगदीश शर्मा व आरके आनंद  महत्वपूर्ण लोगों का बयान भी दर्ज किये जा चुके हैं।

This post has already been read 321 times!

Sharing this

Related posts