छह महीने में कोडरमा से रांची तक चलेगी यात्री ट्रेन: त्रिवेदी

कोडरमा। पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने शुक्रवार को कोडरमा जंक्शन सहित कई स्टेशनों का निरीक्षण किया और कई आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान उनके साथ धनबाद रेल मंडल के डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा व अन्य विभागीय पदाधिकारी मौजूद थे। 

निरीक्षण के बाद त्रिवेदी ने कोडरमा जंक्शन पर बने सीसीटीवी कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि कोडरमा -रांची वाया हजारीबाग रेल खंड में बरकाकाना तक यात्री ट्रेन चलनी शुरू हो गई है और छह माह के अंदर राँची तक यात्री ट्रेन चलनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस रेल खंड पर न सिर्फ यात्री ट्रेन बल्कि मालगाड़ी का परिचालन भी शुरू किया जा रहा है। लोग अपने माल को भेजने के लिए बुकिंग करा सकते हैं। कोडरमा बरकाकाना और कोडरमा कोबाड रेल लाइन पर ट्रेनों की स्पीड 60 किलोमीटर प्रति घंटे से चलाई जाती थी, जिसे बढ़ाकर 100 किलोमीटर प्रति घंटा कर दिया गया है । कोडरमा से मधुपुर तक का कार्य प्रारंभ हो गया है और जल्द ही कोडरमा से गिरिडीह तक ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। महाप्रबंधक ने बताया कि धनबाद रेल मंडल की प्रगति काफी अच्छी है। और हमने चंद्रपुरा- धनबाद रेल लाइन जो बंद थी, उसे पुनः शुरू कर दिया है। टोरी – लोहरदगा के लिए नई रेल लाइन चालू की गई है।
 

कोडरमा तिलैया रेल लाइन जल्द होगी शुरू

झुमरीतिलैया: पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन के महाप्रबंधक त्रिवेदी ने बताया कि जिस तरह कोडरमा गिरिडीह और कोडरमा – हजारीबाग रेल लाइन पर परिचालन शुरू हो गया है, ठीक उसी तरह कोडरमा -तिलैया रेलखंड को शीघ्र ही पटना सेक्शन से जोड़ दिया जाएगा। इससे लोगों को पटना से क्यूल जाने में सुविधा होगी। इससे यात्रियों को 3- 4 घंटे तक की समय की बचत होगी। इस लाइन में भी वित्तीय वर्ष 2019-20 में कई सुविधाएं यात्रियों को मिलेगी। दुर्घटनाएं को रोकने के लिए भी रेल विभाग प्रयासरत है। पहले यात्री ट्रेनों में आईसीएफ कोच का इस्तेमाल किया जाता था अब उसे बदलकर सुरक्षित कोच लगाया जा रहा है। कोहरे से बचने के लिए नई-नई तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है।

उन्होंने कोडरमा जंक्शन पर बने सीसीटीवी कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया।  कोडरमा स्टेशन पर अलग-अलग स्थानों पर 38 कैमरे लगाए गए हैं। त्रिवेदी ने रेलवे का निजीकरण की चर्चाओं को बेबुनियाद और गलत करार दिया। उन्होंने कहा कि यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए रेलवे के पास मैन पावर और फंड की काफी कमी है, जिसके कारण रेलवे वैसे लोगों को आमंत्रित कर रहा है, जो अपने पैसे और मैनपावर को लगाकर रेलवे को फायदा पहुंचाने के साथ-साथ यात्री और उपभोक्ताओं को सुविधा देंगे। महाप्रबंधक ने कोडरमा पहुंचने के पूर्व चरही, हजारीबाग, बरकाकाना, पिपराडीह स्टेशन पर उतर कर निरीक्षण किया। पिपराडीह मे बने नए गुड्स शेड ,रनिंग रूम, स्टेशन परिसर का भी निरीक्षण किया। इस मौके पर पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर जोन के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी के वार्षिक निरीक्षण के दौरान उनके साथ डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा, सीपीआरओ पीके मिश्रा आदि उपस्थित थे।

Sharing this

Related posts