घाघरा की क्रांति देवी को पीएम तीन जनवरी को करेंगे कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित

गुमला। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगामी तीन जनवरी को बंगलोर में आयोजित कार्यक्रम में गुमला की महिला कृषक क्रांति देवी को कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। गुमला के डीपीआरओ देवेन्द्र नाथ बादुड़ी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। गुमला के घाघरा प्रखण्ड के बदरी पंचायत के कोतरी गांव की महिला कृषक क्रांति देवी को श्री विधी से धान की खेती कर असाधारण उत्पादन करने एवं संकुल के महिला कृषकों को वैज्ञानिक तरीके से खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कृषि कर्मण पुरस्कार के लिए राष्ट्रीय स्तर पर चयन किया गया है। उल्लेखनीय है कि क्रांति देवी के पास कृषि योग्य कुल दो एकड़ 30 डिस्मिल भूमि उपलब्ध है। जिससे इनके परिवार का जीवन यापन चल रहा है। क्रांति देवी खेती के साथ-साथ पशुपालन का भी कार्य करती है, जो इनके आजीविका का एक प्रमुख साधन है एवं इसके कम्पोस्ट का उपयोग कर अपने खेतों को कृत्रिम उर्वरक एवं कीटनाशकों से बचाव करती हैं। क्रांति देवी ने खरीफ के मौसम में धान की खेती परम्परागत तरीके से देशी प्रजाति का धान बीज से करती थी एवं रबी के मौसम में सब्जी की खेती करती थी। जिससे उत्पादन बहुत ही कम होता था। क्योंकि खेती करने की आधुनिक तकनीक की जानकारी तब प्राप्त हुई, जब प्रखण्ड तकनीकी प्रबंधक इन्द्र प्रताप पाण्डेय द्वारा कोतरी गांव में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के अन्तर्गत धान संकुल प्रत्यक्षण के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 में 52 महिला कृषकों को धान की वैज्ञानिक तरीके के खेती का प्रशिक्षण देते हुए बीज का वितरण किया गया। हाईब्रीड/शंकर धान बीज से श्री विधि द्वारा किसानों को कराया गया। बीज को कार्बेन्डाजीम से बीजोपचार कर बिचड़ा तैयार किया। बिचड़ा तैयार करने के लिए भी तकनीकि जानकारी एवं प्रशिक्षण दिया गया। मिट्टी जांचोपरांत मिट्टी का उपचार करवाया गया, जिसके कारण किसी भी प्रकार की कोई बीमारी एवं कीट का प्रकोप बिचड़े की नर्सरी में नहीं देखा गया।

This post has already been read 3894 times!

Sharing this

Related posts