जाने क्यों आईफोन से बेहतर हैं एंड्रायड फोन

वैसे तो दुनिया में आइफोन एक स्टे टस सिंबल माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्टे टस सिंबल के अलावा जब आप एक यूजर के तौर पर इसे देखते हैं तो एंड्रायड के मुकाबले यह काफी कमजोर नजर आता है। जहां आइफोन में कई पाबंदियां नजर आती हैं वहीं एंड्रायड फोन आपकी आजादी देता है। जानिये कैसे….

-जब आप कोई आइफोन खरीदते हैं तो उसमें स्टो रेज की क्षमता सीमित होती है। लेकिन ज्याकदातर एंड्रायड फोन्सि में एसडी कार्ड स्लॉ ट दिया होता है जो स्टो रेज बढ़ाने में मदद करता है।

-अगर आपके आइफोन की बैटरी कमजोर होती है तो इसे आप बदल नहीं सकते लेकिन एंड्रायड में यह आसानी से बदली जा सकती है।

-कई एंड्रायड फोन एक रिमोट की तरह भी उपयोग किए जा सकते हैं क्योंरकि इनमें इंफ्रारेड ब्ला स्टंर्स होते हैं जबकि आइफोन में ऐसा कुछ नहीं होता।

-एंड्रायड फोन में कोई भी फाइल आसानी से कम्यूाना टर में शिफ्ट की जा सकती है क्यों्कि कम्यूर्स टर से कनेक्टक करते ही आपको सारी फाइल्सत नजर आने लगती हैं और आप इन्हेंी ड्रैग कर सकते हैं। आइफोन में ऐसा संभव नहीं होता।

-एंड्रायड फोन इस बात की चिंता नहीं करता की म्यूऔजिक कहां से आ रहा है जबकि आइफोन में आपको आइट्यून की ही मदद से म्यू जिक उपलब्धर हो पाता है।

-अपने एंड्रायड फोन को चार्ज करने के लिए आप यूएसबी केबल का उपयोग भी कर सकते हैं लेकिन आइफोन के मामले में आपको ऐपल की प्रोप्रायटरी लाइटनिंग केबल की ही जरूरत होती है।

-गूगल प्लेआ स्टोकर आपको कहीं से भी ऐप डाउनलोड करने की अनुमति देता है लेकिन आइफोन में आपको आइट्यून डाउनलोड करना होता है या फिर ऐप स्टोकर को डाउनलोड करना पड़ता है।

-आइफोन में आप अपने फोन को केवल फिंगरप्रिंट या फिर पासकोड से ही अनलॉक कर सकते हैं लेकिन एंड्रायड फोन में और भी कई ऑप्श न दिए होते हैं।

This post has already been read 1567 times!

Sharing this

Related posts