जानिए क्या है मधुमेह और कैसे करें इसकी पहचान

पिछले कुछ समय में भारत में मधुमेह के रोगियों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। पूरे विश्व के सबसे अधिक मधुमेह रोगी भारत में ही पाए जाते हैं। यहां तक कि आज के दौर में बच्चे से लेकर व्यस्क हर कोई इसकी चपेट में आ रहा है। आलम यह है कि भारत को विश्व की डायबिटीक कैपिटल के रूप में जाना जाता है। देखने में यह समस्या भले ही आम हो, लेकिन इसके कारण व्यक्ति को कई तरह की परेशानियां होती है। तो चलिए आज हम आपको बता रहे हैं कि वास्तव में मधुमेह क्या है और इसकी पहचान कैसे की जाए-

क्या है मधुमेह

मधुमेह जिसे लोग डायबिटीज के रूप में भी जानते हैं, वास्तव में चयापयच संबंधी बीमारियों का एक समूह है, जिसमें लंबे समय तक रक्त शर्करा का स्तर उच्च होता है। जब शरीर में पैनक्रियाज नामक ग्रंथि इंसुलिन बनाना बंद कर देती है तो व्यक्ति मधुमेह पीडि़त होता है। इंसुलिन ही रक्त में ग्लूकोज को नियंत्रित करने का काम करता है। आमतौर पर मधुमेह दो प्रकार का होता है। टाइप 1 डायबिटीज में लक्षणों का विकास काफी तेजी से होता है, जबकि टाइप 2 डायबिटीज में लक्षणों का विकास बहुत धीरे-धीरे होता है और लक्षण भी काफी कम हो सकते हैं। डायबिटीज की समस्या वंशानुगत हो सकती है। वैसे आजकल खराब लाइफस्टाइल व खानपान की गलत आदतों के कारण भी व्यक्ति मधुमेह की गिरफत में आ रहा है।

पहचानें लक्षण

जो भी व्यक्ति मधुमेह ग्रस्त होता है, वह कुछ संकेतों के जरिए इसकी पहचान कर सकता है। जैसे-

बार-बार पेशाब आना

मधुमेह ग्रस्त व्यक्ति को बार-बार पेशाब आता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर में इकट्ठा हुआ शुगर पेशाब के रास्ते बाहर निकलता है।

पानी की प्यास

गर्मी के मौसम में पानी की अधिक प्यास अधिक लगती है। लेकिन अगर आपको बार-बार पेशाब आ रहा है और पानी की प्यास कुछ आवश्यकता से अधिक लगती है तो यह मधुमेह का संकेत है।

लगातार भूख लगना

जो व्यक्ति मधुमेह पीडि़त होता है, उसकी भूख सामान्य व्यक्ति की अपेक्षा काफी अधिक होती है। उसे बार-बार भूख लगती है और वह हरदम कुछ खाना चाहता है।

वजन कम होना

मधुमेह की एक पहचान यह है कि जब व्यक्ति इसकी चपेट में आता है तो उसका वजन तेजी से कम होने लगता है। वैसे थॉयराइड होने पर भी व्यक्ति का वजन तेजी से बढ़ता या घटता है। ऐसे में टेस्ट करवा लेना अच्छा विचार है।

आंखों में धुंधलापन

मधुमेह का विपरीत प्रभाव आंखों पर भी देखने को मिलता है। ऐसे व्यक्ति की नजर कमजोर हो जाती है और उसे धुंधला नजर आने लगता है।

अत्यधिक थकावट

अधिक मेहनत करने पर थकान होना सामान्य है, लेकिन अगर आपको अकारण ही थकान का अहसास हो रहा है या फिर पूरी नींद लेने और आराम करने के बाद भी आप थका हुआ महसूस कर रहे हैं तो इससे यह मधुमेह का संकेत है।

घाव का जल्द ठीक न होना

हर व्यक्ति के शरीर में यह क्षमता होती है कि चोट लगने पर वह कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाती है, लेकिन मधुमेह पीडि़त व्यक्ति के शरीर की यह क्षमता धीरे-धीरे कम होती जाती है। जिसके कारण हल्की सी चोट लगने पर भी वह जल्द ठीक नहीं होती। कई बार तो चोट लगने पर वह घाव में तब्दील हो जाती है।

खुजली या त्वचा रोग

मधुमेह के कारण व्यक्ति को स्किन में खुजली होती है या वह कई तरह के त्वचा रोगों से ग्रस्त हो जाता है।

सिरदर्द

लगातार सिर में दर्द होना भी मधुमेह के शुरूआती लक्षणों में से एक है।

This post has already been read 109512 times!

Sharing this

Related posts