सैंकड़ों साल से अडिग खड़े भारत के खूबसूरत किलों को जाने….

यह पूरी दुनिया जानती है कि भारत पुराने किलों और स्मारकों के लिए फेमस है। भारत के पुराने किले यहां के गौरवशाली इतिहास की गाथओं के बारे में बताते हैं। यूनेस्को वल्र्ड हेरिटेज में भारत का वल्र्ड फेमस लाल किला और आगरा का किला शामिल है। इन दो फेसम किलों के अलावा भी भारत में इतने सारे किले हैं, जो देश की विरासत और समृद्धि को दर्शाते हैं। इनमें हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं और फोटो शूट करते हैं। आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे किलों के बारे में बता रहे हैं जो देश की धरोहर में शामिल हैं। सबसे पहले देखिए भारत के उस किले को जो पांच सौ साल से भी ज्यादा पुराना हो चुका है, लेकिन अडिग है….

जैसलमेर किला, राजस्थान

सुनहरे पत्थरों से बना जैसलमेर किला राजस्थान के जैसलमेर शहर में स्थित है। इस किले को देखने के लिए पर्यटक दूर-दूर से आते हैं। इस जगह जाकर आप अपने आपको इतिहास से जुड़ा हुआ महसूस करेंगे। इस जगह की सुंदरता देखते ही बनती है। किले की हर एक दीवार इतिहास को बयान करती है। विभिन्न रिपोर्टों के मुताबिक यह दुनिया का सबसे बड़े किलों में एक है। इसे रावल जैसवाल ने बनवाया था। थार रेगिस्तान के बीचोंबीच इस किले को बनवाया गया था। जैसलमेर किले को सोनार किले के नाम से भी जाना जाता है। गोल्डन किला शहर से 76 किमी दूर त्रिकुटा पहाड़ी पर त्रिकोण आकार में बनाया गया है।

इस किले को भारत का दूसरा सबसे पुराना किला माना जाता है। किले में सबसे ज्यादा आकर्षक जैन मंदिर, रॉयल पैलेस और बड़े दरवाजे हैं। बाहरी लोगों को नहीं पता, जैसलमेर रेगिस्तान का शहर है जो त्रिकुटा पहाड़ी, हवेलियों, और झीलों के लिए फेमस है। इतिहास देखें तो पता चलता है कि जैसलमेर का किला 1156 ई. में निर्मित हुआ था। रावल जैसल द्वारा बना यह किला 80 मीटर ऊंची त्रिकूट पहाड़ी पर है। अगर इसके हिस्सों के बारे में आप देखना चाहते हैं तो सुन लीजिए यह इनता विशाल है कि इसमें बारह सौ घर हैं और ये तीस फुट ऊंची प्राचीरों से घिरा हुआ है। 30 फीट ऊंची दीवार वाले इस किले में 99 प्राचीर हैं, जिनमें से 92 का निर्माण 1633 और 1647 के बीच कराया गया था और चार विशाल प्रवेश द्वार हैं। इन प्रवेश द्वारों के नाम गणेश पोल, सूरज पोल, अक्षय पोल और हवा पोल हैं। किले के अंदर और भी अनेक सुंदर हवेलियां भी हैं।

चित्तौड़गढ़ किला, राजस्थान

हैरान मत होईएगा जनाब, राजस्थान का ही नाम सुनकर! आपको बता दें कि राजस्थान राजाओं की भूमि है और किलों के मामले में इससे बेहतर उदाहरण दूसरा नजर नहीं आता। अब ये देखो मेवाड़ का चित्तौडगढ… इसे किलों का शहर कहा जाता है। यहां पर आपको भारत के सबसे पुराने और आकर्षक किले देखने के मिलेंगे। उन्हीं किलों में से एक चित्तौड़ का किला है। यह किला बेराच नदी के किनारे बनाया गया है। नदी के किनारे स्थित होने के कारण इसे पानी का किला भी कहा जाता है, क्योंकि इस किले में 84 पानी की जगहें हैं, जिनमें से 24 आज के समय में सही स्थिति में हैं। यह किला महाराणा प्रताप की बहादुरी की गवाही देता है। राजस्थान में राजपूत फेस्टिवल मनाया जाता है, जिसे जौहर मेला नाम से जाना जाता है। चित्तौडगढ़ के किले में दो फेमस जलाशय हैं, जो विजय स्तंभ और राणा कुंभा के नाम से प्रसिद्ध हैं। इस किले के अलावा यहां पर आपको अम्बर किला, जयगढ़ किला और तारागढ़ किला है, जिन्हें देखने के लिए पर्यटकों का तांता लगा रहता है। पिक्स देख अंदाजा खुद ही लगा सकते हैं।

मेहरानगढ़ किला, राजस्थान

जोधपुर शहर में अगर कुछ देखना है तो इसे देखना न भूलें, चूंकि यह यहीं स्थित है। यह 500 साल से भी ज्यादा पुराना और सबसे बड़ा किला है। यह किला काफी ऊंचाई पर स्थित है। इसे राव जोधा द्वारा बनवाया गया था। इस किले में सात गेट हैं। प्रत्येक गेट राजा के किसी युद्ध में जीतने पर स्मारक के रूप में बनवाया गया था। इस किले में जायापॉल गेट राजा मानसिंह ने बनवाया था। किले के अंदर मोती महल, शीश महल जैसे भवनों को बहुत ही खूबसूरती से सजाया गया है। चामुंडा देवी का मंदिर और म्यूजियम इस किले के अंदर ही हैं। इस किले का म्यूजियम राजस्थान का सबसे अच्छा म्यूजियम माना जाता है। राजस्थान को रॉयल पैलेस कई कारणों से कहा जाता है। यह टूरिस्ट्स को सबसे ज्यादा आकर्षित करने वाला राज्य है। राजस्थान अपने किलों के अलावा थार रेगिस्तान, खूबसूरत झीलें, नेशनल पार्क और एक रॉयल लाइफ स्टाइल के लिए भी फेसम है।

लाल किला, दिल्ली

लाल किला के बारे में वैसे तो आप भी भलीभांत जानते होंगे, लेकिन खास बातें हमसे समझ लीजिए। भारत का सबसे आकर्षक और फेमस किलों में लाल किला का नाम आता है। यह किला दिल्ली में स्थित है। इसे मुगल शासक शाहजहां ने बनवाया था। इस किले की दीवारें लाल पत्थर की हैं। यही वजह है कि इसे लाल किला नाम से जाना जाता है। इस किले के अंदर देखने लायक कई चीजें हैं। मोती मस्जिद, दीवान-ए-आम और दीवान-ए-खास देखने के लिए काफी लोग रोज ही आते हैं। यह किला यमुना नदी के किनारे है। इस किले में आपको पुरातात्विक म्यूजियम और युद्ध से जुड़ी जानकारी देने वाला म्यूजियम भी बनाया गया है। यह भारत के सबसे महत्वपूर्ण धरोहरों में से एक है, जहां से देश के प्रधानमंत्री देश के लोगों को संदेश देते है औैर स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराते हैं। कल ही मोदी ने फहराया था, आपने जोरदार भाषण भी सुना होगा।

श्रीरंगपट्टनम किला, कर्नाटक

बहुत कम लोगों को पता है कि कर्नाटक की पवित्र नदी कावेरी के निकट श्रीरंगपट्टनम किला स्थित है। श्रीरंगपट्टनम किला और टीपू सुल्तान का किला कर्नाटक राज्य के प्रमुख स्मारकों में से एक है। इन किलों के अलावा यहां पर जुम्मा मस्जिद, दारिया दौलत गार्जन, श्रीरंगपट्टनम पक्षी संग्राहलय और टीपू सुल्तान म्यूजियम टूरिस्ट्स के आकर्षण के केंद्र हैं। इस किले को देखे बिना कर्नाटक की यात्रा बेकार है। कर्नाटक में बेलगाम का किला भी फेमस है। यह कर्नाटक के पुराने और भव्य किलों में से एक है।

ग्वालियर का किला

यह किया राणा मानसिंह तोमर ने मध्य प्रदेश में बनवाया था। यह किला ऐतिहासिक स्मारकों में से एक है। इस किले के आकर्षण का केंद्र सास-बहू मंदिर और गुजारी महल है। इसमें मंदिर और म्यूजियम भी है। यह राजसी स्मारक भारत के सबसे बड़े किलों में से एक है। इस किले के महत्व को याद रखने के लिए इस पर डाक टिकट भी जारी किया गया है। यह मध्य प्रदेश के सबसे पसंदीदा टूरिस्ट प्लेसेस में से एक है।

गोलकोंडा किला, हैदराबाद

प्रदेश के हैदराबाद शहर में काकतिया राजा ने इसे बनवाया था। यह किला अपने समृद्ध इतिहास और राजसी भव्य संरचना के लिए जाना जाता है। गोलकुंडा कोल्लूर झील के पास हीरे की खान के लिए भी फेमस है। इस किले को हैदराबाद के सात आश्चर्य के रूप में जाना जाता है। इस किले के अलावा यहां पर आपको चारमीनार, बिरला मंदिर, रामोजी फिल्म सिटी, हुसैन सागर, सालारजंग म्यूजियम और मक्का मस्जिद जैसी कई दर्शनीय जगहें हैं।

कांगड़ा किला, हिमाचल

कांगड़ा का मतलब घाटी में बाणगंगा और माझी नदियों के संगम पर। कांगड़ा के शाही परिवार ने इस किले का निर्माण किया था। यह किला दुनिया के सबसे पुराने किलो में से एक है। यह हिमालय का सबसे बड़ा किला और इंडिया का सबसे पुराना किला है। इस किले में वज्रेश्वरी मंदिर है, जिसका काफी महत्व है। किलों और मंदिरों के अलावा हिमाचल अपनी खूबसूरती के लिए भी फेमस है। कांगड़ा शहर की खूबसूरती देखने के लिए आप सड़क रास्ते से यात्रा करें। हिमाचल की काफी सारी इमारतें धर्मशाला के पास भी हैं।

पन्हाला किला, महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में कोल्हापुर के पास सहयाद्री पर्वत में इस किले को बनाया गया है। यह किला मराठा शासकों की याद दिलाता है। महाराष्ट्र में ज्यादातर किले शिवाजी के समय में बनाए गए थे। महाराष्ट्र के पुनडार किला, बहादुरगढ़ किला, अहमदगढ़ किला और रत्नगढ़ किले में आप ट्रैकिंग भी कर सकते हैं। ये किले ट्रैकिंग के लिए बेहद फेमस हैं। महाराष्ट्र का मुरुद जिला जंजीरा और खूबसूरत बीच के लिए फेमस है। यहां घूमने का उपयुक्त समय अक्टूबर से मार्च है। इस समय यहां का मौसम सुखद होता है। जनवरी-फरवरी में भी यहां की सकूनता का अहसास ले सकते हैं,

लाल किला, आगरा

आपमें से कुछ लोग सोच रहे होंगे कि लाल किला तो हम देख चुके, लेकिन वह किला दिल्ली का था और ये उत्तर प्रदेश के ताज महल से 2 किमी की दूरी पर आगरा में बनाया गया है। इस किले को सिकंदर लोधी ने रहने के लिए बनवाया था। इस किले को यूनेस्को विरासत में दर्जा हासिल है। यह यमुना नदी के किनारे बनाया गया है। उत्तर प्रदेश के बेस्ट टूरिस्ट प्लेस में आगरा का यह लाल किला आता है। इस किले के अलावा झांसी किला अपनी कलाकारी के लिए फेमस है। झांसी का किला महारानी लक्ष्मीबाई का किला है। महारानी लक्ष्मी बाई ने अंग्रेजों से लोहा लिया था, वे परम शहीदों में से एक थीं, भारत की मर्दानीं वीर।

This post has already been read 1400 times!

Sharing this

Related posts