झपटमार गिरोह का भंडाफोड़, हथियार व तीन मोटरसाइकिलों के साथ एक गिरफ्तार


बोकारो । बोकारो में महिलाओं से चेन छिनतई सहित अन्य कई घटनाओं को अंजाम देने वाले एक झपटमार गिरोह का खुलासा करने में पुलिस ने सफलता पाई है। सेक्टर- 4 थाना इलाके से पुलिस ने जिले के कसमार स्थित मंजूरा ग्राम निवासी कमरुल होदा उर्फ कमरुल अंसारी नामक एक अपराधकर्मी को गिरफ्तार किया।  उसके पास से एक देसी कट्टा और एक जिंदा कारतूस के साथ साथ तीन मोटरसाइकिलें भी बरामद की गई हैं। 

कमरुल के साथ मौजूद उसके चार अन्य साथी पुलिस से भागने में कामयाब रहे लेकिन उनकी मोटरसाइकिलें पकड़ी गईं। इसके साथ ही बोकारो में छिनतई की कई घटनाओं का खुलासा भी हो गया। बुधवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान सिटी डीएसपी ज्ञान रंजन ने बताया कि कमरुल कुख्यात अपराधकर्मी बाटला, पिटला और उसके साथियों वाले गिरोह के साथ मिलकर छिनतई सहित अन्य घटनाओं को अंजाम दिया करता था। मंगलवार रात सेक्टर-4 थाना क्षेत्र अंतर्गत एलआईसी मोड़ एवं नटखट जाने वाले रास्ते के पास पुलिस की चेकिंग के दौरान उसे गिरफ्तार किया गया।

 डीएसपी ने बताया कि आठ अक्टूबर को पुलिस अधीक्षक को कुछ आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के छिनतई करने के उद्देश्य से क्रियाशील होने की जानकारी मिली थी। इस सूचना के आधार पर इलाके में पुलिस बल को काफी चुस्त और मुस्तैद कर दिया गया। इसी क्रम में सेक्टर-4 हर्षवर्धन प्लाजा के सामने कृष्णा मंदिर के पास पांच संदिग्ध लोगों को तीन बाइक पर सवार हालत में टाइगर मोबाइल के जवानों ने संदेहास्पद हालत में देखा। पुलिस के पहुंचने पर वे सभी अपनी-अपनी मोटरसाइकिलें छोड़कर भागने लगे। इनमें से कमरुल नामक एक युवक पुलिस के हत्थे चढ़ गया, जबकि उसके अन्य चार साथी मोटरसाइकिल छोड़कर भाग निकले। कमरुल होदा की तलाशी के दौरान उसके पास से एक देसी कट्टा व एक जिंदा गोली तथा उसकी पैशन प्रो मोटरसाइकिल बरामद की गई। घटनास्थल से कुख्यात अपराधी बाटला की एक टीवीएस अपाचे मोटरसाइकिल तथा कमरुल की ही दूसरी मोटरसाइकिल नई टीवीएस अपाचे बरामद की गई। उसे कुख्यात पिटला चला रहा था।

सिटी डीएसपी के अनुसार कमरुल ने पूछताछ में बताया कि वे सभी पांचों छिनतई करने के लिए मौके की तलाश में थे।डीएसपी ने बताया कि शहर में विगत कई दिनों से झपटमार गिरोह की सक्रियता को पुलिस अधीक्षक ने काफी गंभीरता से लिया। इसी के मद्देनजर तैनाती और सतर्कता बरती गई। उन्होंने बताया कि कमरुल ने अपने साथियों के साथ मिलकर पिछले दिनों दुंदीबाद में फायरिंग की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। इसी साल 20 सितम्बर को सेक्टर-12,  23 सितम्बर  को सेक्टर 3बी में डीएसपी की पत्नी और 3 अक्टूबर को सिटी सेंटर स्थित मदर केयर के पास दो स्कूटी सवार महिलाओं से चेन छिनतई की वारदातों में ये सभी अपराधी शामिल थे।

 डीएसपी ने बताया कि पिंड्राजोरा थाना इलाके के मोहनडीह निवासी सरफुद्दीन अंसारी उर्फ बाटला और इंसाफ अंसारी उर्फ पिटला, भर्रा निवासी रिंकू अंसारी के साथ-साथ छीने गए छीने गए गहनों की खरीदारी करने वाले पिंड्राजोरा निवासी दीनानाथ सोनार चेकिंग के दौरान पुलिस को देख भाग निकले थे। दीनानाथ के अलावा दो और सोनार इस गिरोह से जुड़े हैं, जिनके नाम एहतियातन अभी नहीं बताए जा सकते।

This post has already been read 649 times!

Sharing this

Related posts