यूएनए में भारत ने पाक को लताड़ा- आतंकियों को शहीद बताता है पाकिस्तान

न्यू यॉर्क :  पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मुहम्मद कुरेशी की ओर से संयुक्त राष्ट्र महासभा की 75वीं वर्षगांठ के पहले दिन ही कश्मीर का मुद्दा उठाना महंगा पड़ा। भारतीय प्रतिनिधि ने पाकिस्तान को लताड़ते हुए कहा, ‘पाकिस्तान आतंकवाद का गढ़ है और आतंकियों की शरणस्थली बन चुका है।’

संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ पर एक सप्ताह तक चलने वाले समारोह के पहले दिन अन्तरराष्ट्रीय शांति दिवस घोषित किया गया है। मंगलवार से संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्यों में से 84 सदस्यों के राष्ट्रपति अथवा प्रधानमंत्री के रिकार्ड वीडियो से संदेश प्रसारित किए जाएंगे। महासभा की बैठक में पहले दिन सदस्य देशों के प्रतिनिधि फ़ेस मास्क लगाकर आए और सोशल डिसटेंसिंग का भी पालन किया। 
संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री के सवालों के जवाब में कहा कि सच्चाई यह है कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जो आतंकवाद की ट्रेनिंग देता है, और फिर उन्हें शहीद का दर्जा देता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवाद की कहानी किसी भी देश से छिपी नहीं है। भारतीय प्रतिनिधि ने भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए कहा कि पाकिस्तान में किस तरह अल्प संख्यकों के साथ दुर्व्यवहार और अत्याचार किया जाता है, यह भी बड़ा संगीन मामला है।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी प्रतिनिधियों की इस तरह के अन्तरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर का मुद्दा उठाना और मिथ्या प्रचार करना उसकी फ़ितरत बन गई है। उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और वह इस तरह के मुद्दे उठाए जाने के किसी भी प्रयास का पुरज़ोर विरोध करती है।

This post has already been read 695 times!

Sharing this

Related posts