डीवीसी के नवनिर्माण में पेंशनर भाइयो का अहम भूमिकाः मनोरंजन सरकार

धनबाद । डीवीसी पेंशनर फोरम मैथन यूनिट का चौथा वार्षिक सम्मेलन मैथन क्लब में रविवार को संपन्न हुआ। सम्मेलन का उद्घाटन डीवीसी पेंशनर फोरम के अध्यक्ष मनोरंजन सरकार ने दीप प्रज्वलित कर किया। मनोरंजन सरकार ने कहा कि डीवीसी के नवनिर्माण में पेंशनर भाइयो का अहम भूमिका है। आज डीवीसी दिन-प्रतिदिन उन्नति कर रही है। यह गौरव की बात है। डीवीसी के फलने-फूलने में हम जैसे हजारों कर्मियों ने दिन-रात मेहनत कर इसे सजाया है। 

डीवीसी के अच्छे दिनों में भी और बुरे दिनों भी हमलोग कदम से कदम मिलाकर चले और साथ निभाये। हम सभी पेंशनर यही कामना करते हैं कि डीवीसी और उन्नति करें। उन्होंने डीवीसी प्रबंधन से पेंशनरों की मुख्य सात मांगों को अविलंब पूरा करने की मांग की। इसमें कैशलेस चिकित्सा के लिए और अधिक अस्पतालों की संख्या बढ़ायी जाए, मेडिकल बिल का रिम्बर्समेंट समय पर हो, डीवीसी के अतिरिक्त मकानों को डीवीसी के पेंशनरों को लीज पर दिया जाए, डीवीसी के मकानों की नियमित मरम्मत की जाए, मेथड 1 एवं 2 के तहत समस्त पेंशनरों की पेंशन का संशोधन अभिलंब किया जाए, पेंशनर ग्रेजुएटी ट्रस्टी बोर्ड में पेंशनरों के प्रतिनिधि को शामिल किया जाए तथा डीवीसी पेंशन फॉर्म मैथन यूनिट के ऑफिस की मरम्मत या कहीं अन्यत्र जगह आवंटित करने की मांगे शामिल हैं। उन्होंने डीवीसी प्रबंधन पर पेंशनरों की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया।

महासचिव स्वपन मोहिता ने कहा कि डीवीसी के निर्माण में पेंशनरों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। पेंशनरों ने ही अपने खून पसीने से डीवीसी का निर्माण किया है, परंतु डीवीसी प्रबंधन कई मामलों में पेंशनरों को ही परेशान करती है। वार्षिक सम्मेलन में पूरे साल का लेखा-जोखा मैथन यूनिट के सचिव जी. राम ने प्रस्तुत किया। इस मौके पर मैथन यूनिट के अध्यक्ष द्वारिका प्रसाद, एचबी प्रसाद, अर्जुन पाठक, रविंद्र कुमार, कल्याण चटर्जी, बादल प्रसाद, आरपी सिंह, संतोष घोष समेत सैकड़ों की संख्या में पेंशनर मौजूद थे। 

This post has already been read 830 times!

Sharing this

Related posts