Health : सुन्दर दिखना चाहते हैं तो करें ये उपाय

हर कोई छरहरा और सुन्दर दिखना चाहता है। यह इच्छा औरतो मे और अधिक  प्रबल होती है। किन्तु मोटापा और थुलथुलापन ऐसी बिमारी है जो औरत, मर्द, लडकियों और लड़को की पर्सनेलटी मे ग्रहण लगा देता  है। आइए समझे कि मोटापा से हम कैसे बच सकते है।

डॉ एस के निराला द्वारिका अस्पताल महिलौग (रांची)

स्मार्ट दिखने के लिए जरुरी है कि हम जितना भोजन करे उसका अधिकांश हिस्सा दौड़ भाग, पैदल चलकर और शारीरिक मेहनत कर जला देवे।ऐसा नही करने पर भोजन (कैलोरी )पेट और जाॅघ पर जमने लगता है। महिलाओ का मोटापा कमर और उसके नीचे   जमता है।हरी सबजी,रोटी और फल से वजन नही बढता किन्तु सरसो और रिफाइंड तेल, घी, मख्खन और माॅसाहारी भोजन से वजन तेजी से बनता है । तनाव मे रहकर और शराब पीने के बाद  आदमी अधिक  भोजन  करने लगता हैं। औरतो मे महवारी बन्द होने के बाद  वजन अपने आप  बढने लगता है। हारमोन की कमी और थायरायड रोग मे मोटापा अपने आप  आने लगता है।

मोटापा  आ जाने के बाद कई तरह से  परेशान करता है। थोड़ी दूर  चलने  और सीढी चढने पर सांस फूलने लगता है।अधिक पसीना,खर्राटे  और थकावट महसूस होता है। पैर के जोड़ों में हमेशा दर्द रहेगा।डायबीटीस ,खून  मे अधिक चर्बी और हाई बीपी जैसी बिमारी  दबोच लेती है।

मोटापा कम करने का पहला नियम खाने की मात्रा आधी करनी होती  है। दूसरा क्या खाए  और क्या न खाए की समझ होनी चाहिए।चावल  के बजाय  रोटी से वजन कम बढता है क्योकि इसमे कम कार्बोहाइड्रेट है। दाल, दूध, छाछ और दही जैसे प्रोटीन से वजन नही बढता।हरी सब्जी ,फल , कच्चे खीरा, टमाटर और ककड़ी कई किलो भी खा ले।वजन नही बढेगा।रात के भोजन के बाद  वजन बढता है। इसलिए रात मे कम से कम खाए या बिलकुल नही खाए।

बैरियाएट्रिक सर्जरी  वजन घटाने का सबसे बढिया तरीका है।मोटे लोगो का पेट खाते -खाते बोरे जैसा  फैल जाता है। इसी को समझ कर सर्जन पेट को स्टेपल(सिल )  कर छोटा कर देते है।थैला छोटा हो जाने के  बाद वही आदमी कम खाकर भी भरा -भरा  महसूस करता है  फलतः वजन कम होता जाता है छरहरा और सुन्दर लगने की इचछा  को मरने न दे।रोज शीशे मे खुद को  बार बार निहारे। फुला हुआ चेहरा और पेट देखकर आप  कम खाने के लिए प्रेरित होंगे।

This post has already been read 3000 times!

Sharing this

Related posts