Loan : अगर आप मकान खरीदने की योजना बना रहे हैं,इसके लिए होम लोन लेने का विचार कर रहे हैं, तो ये खबर आपके लिए

Business : लोन लेने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि इसके लिए कौन सा बैंक ज्यादा भरोसेमंद है। फिनटेक कंपनी बेसिक होम लोन के सर्वे के अनुसार, भारत में लोग सरकारी क्षेत्र के बैंकों को ज्यादा भरोसेमंद मानते हैं।

इतना घटा ब्याज
करीब 24 फीसदी लोगों ने अपनी बचत का इस्तेमाल किया और घर की खरीदारी की। वहीं सिर्फ एक फीसदी ने किसी गैर-संस्थागत निजी कर्जदाता से कर्ज लेने को तरजीह दी। ब्याज दर की बात करें, तो महामारी के दौरान (मार्च 2020 से नवंबर 2020) सरकारी क्षेत्र के बैंकों ने नए लोन पर ब्याज दरों में 0.68 फीसदी की कटौती की। वहीं निजी क्षेत्र के बैंकों ने इससे अधिक, 1.34 फीसदी ब्याज की कटौती की।

और पढ़ें : काम की बात : बहुत ही जल्द कम होंगे खाने के तेलों के दाम, जाने कैसे

सर्वे में 1,000 लोगों ने लिया भाग
सर्वे के अनुसार, 47 फीसदी लोगों का मानना है कि वे घर खरीदने के लिए निजी बैंकों की तुलना में सरकारी बैंकों से कर्ज लेना पसंद करते हैं। मालूम हो कि यह सर्वे महामारी के दौरान लोगों के खरीदारी पैटर्न और प्राथमिकता को समझने के लिए किया गया था। इसमें 1,000 से अधिक लोगों ने भाग लिया। करीब 470 लोगों ने होम लोन के लिए सरकारी क्षेत्र के बैंकों पर भरोसा जताया और सिर्फ 270 लोगों ने कहा कि वे होम लोन के लिए निजी बैंकों से लोन लेना पसंद करेंगे। आंकड़े 25 शहरों से संकलित किए गए हैं।

इसे भी देखें : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर लाठीचार्ज, बेहोश होकर सड़क पर गिरे, इस पर संसदीय कार्य मंत्री ने क्या कहा...

इस संदर्भ में बेसिक होम लोन के सह-संस्थापक अतुल मोंगा ने कहा कि, ‘हर एक बैंक अपने आप में अलग है। सामान्य तौर पर सरकारी क्षेत्र के बैंक प्रॉसेसिंग शुल्क और पूर्व भुगतान प्रतिबंधों के मामले में बेहतर पेशकश करते हैं। वहीं निजी बैंक कर्ज के वितरण के मामले में बेहतर प्रौद्योगिकी का लाभ उठाते हुए तेजी से कर्ज देते हैं ।

This post has already been read 21913 times!

Related posts