अयोध्या में बनेगा भगवान श्री राम का गगनचुंबी भव्य मंदिर: अमित शाह

​गढ़वा । भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं ​​केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 13 सीटों पर चुनाव प्रचार के आखिरी दिन चतरा और गढ़वा​ में चुनावी सभाओं को संबोधित किया​।​ उन्होंने ​कहा कि देश की एकता व अखंडता ​बनाए रखने ​के लिए केन्द्र सरकार पूरी तरह से ईमानदारी से कार्य कर रही है। 70 ​वर्षों से लंबित श्रीराम जन्म भूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट ​का ऐतिहासिक फैसला आने के बाद अयोध्या की पवित्र भूमि ​में ​भगवान श्रीराम ​का गगनचुंबी मंदिर का भव्य निर्माण किया जायेगा। उन्होंने कहा कि ​कांग्रेस पार्टी अनुच्छेद 370 को अपने वोट बैंक के लिए पालती रही लेकिन ​मोदी सरकार ने इसे खत्म कर​के अपनी मंशा जाहिर कर दी है।

गृहमंत्री ​ने ​गु​रुवार को ​​गढ़वा​ में ​जिला मुख्यालय स्थित बालिका​ माध्यमिक विद्यालय के मैदान ​में ​चुनावी जनसभा ​की​​।​ उन्होंने कहा कि ​केंद्र सरकार की ईमानदार कोशिश के कारण आज ​अंतरराष्ट्रीय​ स्तर पर देश का मान व सम्मान बढ़ा है। उन्होंने कहा कि सत्ता के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो हेमंत सोरेन कांग्रेस के साथ गठबंधन की सरकार बनाने के लिए आतुर हैं। कांग्रेस पार्टी अलग झारखंड राज्य के निर्माण में बाधक ​बनी थी​। शाह ने कहा कि हेमंत सोरेन कांग्रेस की गोद में बैठकर सत्ता पाना चाहते हैं, जिसे यहां के मतदाता सफल नहीं होने देंगे।​ उन्होंने कहा कि रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। शाह ने नक्सलियों को ललकारते हुए कहा कि झारखंड से पूरी तरह नक्सलवाद को समाप्त किया जायेगा। विकास ​हमेशा बंदूक की गोली से नहीं बैलेट से होता है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में भाजपा की स्थिर सरकार बनने के साथ ही प्रदेश में चौतरफा विकास कार्य हो रहा है। गढ़वा विधानसभा क्षेत्र में 515​ ​करोड़ की लागत से सड़क का निर्माण कार्य किया गया है। उतरी कोयल नदी पर मंडल डैम का निर्माण किया गया, जो पिछले 70​ वर्षों से अधूरा था।​ शाह ने कहा कि कनहर परियोजना के कार्यान्वयन के लिए केद्र सरकार ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। उन्होंने कहा कि 2024 तक सभी घरों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए तेजी के साथ कार्य किया जा रहा है। ​इस ​मौके पर पूर्व डीजीपी डीके पांडेय,​ ​सांसद बीडी राम,​ ​भाजपा के वरीय नेता आदित्य साहु,​ ​जवाहर पासवान,​ ​गिरिंद्र नाथ पांडेय, जवाहर पासवान,​ ​मुकेश निरंजन सिन्हा,​ ​भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश केशरी और मुरली श्याम सोनी सहित कई लोग उपस्थित थे।

इससे पहले ​केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने​ ​चतरा ​की चुनावी रैली ​में जोहार, सबको प्रणाम के साथ अपना संबोधन शुरू किया।​ उन्होंने भारत माता की जय के नारे लगाए और लोगों से कहा​ कि ​विजय संकल्प के साथ बोलिए भारत माता की जय। मां भद्रकाली को नमन करते हुए उन्होंने कहा कि अपना झारखंड भगवान बिरसा मुंडा की भूमि है, जिन्‍होंने सबसे पहले अंग्रेजों को चेताया कि यह देश खाली करो। आज मैं यहां आया हूं तो सैकड़ों आदिवासी स्‍वतंत्रता सेनानियों को प्रणाम करता हूं। आज हम झारखंड का चुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। हेमंत सोरेन बताएं कि पृथक झारखंड की लड़ाई में कांग्रेस कहां थी।​ मैं झामुमो से पूछना चाहता हूं कि झारखंड के युवा जब अलग झारखंड के लिए लड़ रहे थे, उस वक्त कांग्रेस का स्टैंड क्या था? जब तक कांग्रेस की सरकार रही, झारखंड की रचना नहीं हुई। कई लोगों ने बलिदान दिया, अपना पूरा जीवन लगा दिया। जब भाजपा की सरकार बनी और अटलजी प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने झारखंड को बनाने का काम किया। अटलजी ने झारखंड को बनाया, नरेंद्र मोदी और रघुवर दास ने झारखंड को संवारने का काम किया है। इस चुनाव के पहले चरण के लिए 30 नवम्बर को वोट डालने जाएंगे तो याद रखना कि आपका वोट विधायक चुनने के लिए नहीं है, आपका वोट मंत्री या मुख्यमंत्री बनाने के लिए नहीं है। आपका वोट झारखंड को प्रगति पर ले जाने के लिए है।​

शाह ने कहा कि झारखंड की रघुवर दास सरकार ने बीते पांच साल में यहां सड़कों का जाल बिछाया है। जगह-जगह पुल बनाए हैं। कांग्रेस और हेमंत सोरेन को चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि पिछले 60 साल में वे बताएं कि यहां विकास के कौन से कार्य किए? हम यहां अपना हिसाब-किताब दे रहे हैं। विपक्षी दलों में साहस है तो वे भी अपने कार्यों का ब्‍योरा दें।​

This post has already been read 4609 times!

Sharing this

Related posts