आकाशी बिजली से एक किसान की मौत,गेंहू व सब्जियों की फसल को भारी नुकसान

गुमला : शुक्रवार शाम से ही हो रही बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से पुरे जिले में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।  शुक्रवार शाम पालकोट के बिलिंगबीरा गांव में बज्रपात के चपेट में आने से पुतल सिंह नामक एक 40 वर्षीय किसान की मौत हो गयी। 

वहीं शनिवार की सुबह भी जम कर बारिश हुई। इसके साथ हुई ओलावृष्टि ने लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी।  नालियों का पानी भी सड़क पर बहने लगा। कई घरों व दुकानों में पानी घुस गया। जिसके कारण दुकानों में रखे सामान बर्बाद हो गयें। 

इस बेमौसम बरसात व ओलावृष्टि का कहर गेंहू व सब्जियों की खेती पर पड़ा। गेंहू की बालियां ओलावृष्टि से धराशायी हो गयी। सब्जियों का फसल भी बर्बाद हो गया। जिससे किसानों में भारी मायुसी है। हमारे जारी संवाददाता के अनुसार परमवीर अलबर्ट एक्का जारी प्रखंड में भी शुक्रवार की रात और शनिवार की सुबह जोरदार बारिश और ओलावृष्टि हुई। भारी ओलावृष्टि से किसानों का फसल बर्बाद हो गया। 

बड़े पैमाने पर मिर्चा की खेती करने वाले रूद्रपुर के किसान निरंजन लकड़ा ने कहा कि वे बी कॉम की पढ़ाई करने के बाद गांव में आकर खेती बारी करने  लगें। शुक्रवार की रात हुई बारिश से उनका पुरा परिवार चिंतित हो उठा।  सवेरे भागे-भागे अपने खेत पहुंचे तो देखा कि पांच एकड़ में लगी मिर्च की फसल पुरी तरह बर्बाद हो चुकी है। फसल बर्बाद होने से उनकी सारी पूंजी भी डूब गयी। अब क्या करें,समझ में नहीं आ रहा है।

गोविंदपुर पंचायत में तो 25 से 30 एकड़ में लगी मिर्च की फसल बर्बाद होने से किसानों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। साथ ही टमाटर.मटर.प्याज व गेंहू आदि की फसल की भी यही स्थिति है।

This post has already been read 2706 times!

Sharing this

Related posts