गुमला हत्याकांड : हाई कोर्ट ने आला अधिकारियों से मांगा जवाब

रांची : झारखंड हाई कोर्ट ने गुमला जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के मामले में स्वत: संज्ञान लिया है। इस मामले में चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन ने राज्य के पुलिस महानिदेशक, मुख्य सचिव, गृह सचिव और समाज कल्याण विभाग के सचिव से 18 मार्च तक जवाब मांगा है। साथ ही अदालत ने झालसा की टीम को गुमला का दौरा कर रिपोर्ट सौंपने का भी निर्देश दिया है। 
झारखंड हाई कोर्ट इस मामले को लेकर बेहद गंभीर है। हाई कोर्ट ने मौखिक रूप से टिप्पणी करते हुए कहा कि राज्य सरकार को अब अपनी नींद से जागना चाहिए। साथ ही अदालत ने डायन हिंसा के खिलाफ चलाए जा रहे जागरुकता अभियान के बारे में भी सरकार से जानकारी मांगी है।
उल्लेखनीय है कि झारखंड के गुमला के बुरुहातू आमटोली गांव में बीते 24 फरवरी को एक ही परिवार के पांच लोगों की कुल्‍हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या कर दी गई थी। इस वारदात में निकुदीन टोपनो (60), जोस्पीना टोपनो (55), भीनसेंट टोपनो (35), शिववंती तोपनो (30) और भालवीन टोपनो (05) की जान चली गई थी। पुलिस के अनुसंधान में डायन-बिसाही में हत्या की पुष्टि हुई है। इस मामले में बीते 26 फरवरी को कामडारा थाना की पुलिस ने आठ आरोपितों को गिरफ्तार किया था। 

This post has already been read 728 times!

Sharing this

Related posts