आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकृत अस्पतालों में बनाये जा रहे गोल्डन कार्ड

आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकृत अस्पतालों में गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे हैं। जिले में सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल मिलाकर 57 अस्पतालों का पंजीयन है, जहां गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे है और विभिन्न बीमारी से ग्रसित मरीजों का इलाज सुनिश्चित कराया जा रहा है। इन अस्पतालों की सूची को सार्वजनिक स्थलों पर भी डिस्पले किये जाने का प्रयास हो रहा है, ताकि आम जनों को सुविधा मिल सके।

यह बातें पलामू के असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी (सिविल सर्जन) डॉ0 जॉन एफ केनेडी ने कही। सिविल सर्जन ‘आपका मंच‘ कार्यक्रम के तहत टेलीकांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के आम जनता की समस्याओं और सरकार की ओर से स्वास्थ्य संबंधित संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं के संबंध में जानकारी दे रहे थे।

सूचना भवन स्थित सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में आयोजित ‘आपका मंच‘ कार्यक्रम में सिविल सर्जन डॉ0 जॉन एफ केनेडी ने जिले में सर्प दंश होने पर समूचित इलाज की भी सलाह दी। उन्होंने कहा कि बारिश के मौसम में सर्प दंश की शिकायत ज्यादा होती है। इसमें आम जनों को तत्परता दिखाते हुए तत्काल अस्पताल में पहुंचना चाहिए। झाड़-फूंक जैसे अंधविश्वास के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए। अस्पताल में एंटी वेनम (सर्प दंश के बाद बचाव की दवा) पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। समय रहते पीडि़त अस्पताल में पहुंच जाएं, तो तत्काल इलाज के बाद उनके जीवन को बचाया जा सकता है।

जि

This post has already been read 728 times!

Sharing this

Related posts