रेल मंत्री ने ईस्ट-वेस्ट मेट्रो को दिखाई हरी झंडी

कोलकाता । कोलकाता में  बहुप्रतीक्षित ईस्ट-वेस्ट मेट्रो परियोजना के पहले चरण को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार शाम हरी झंडी दिखाई है। सॉल्टलेक सेक्टर-5 से सॉल्टलेक स्टेडियम तक 5.3 किलोमीटर के इस रूट पर अत्याधुनिक स्वचालित मेट्रो का उद्घाटन करते हुए केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि भाजपा की सरकार देश के प्रत्येक क्षेत्र का विकास करने के लक्ष्य के साथ काम कर रही हैं। हमारा लक्ष्य सबका साथ सबका विकास है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के हर क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का ध्यान पूर्वांचल क्षेत्रों की ओर है।

परोक्ष तौर पर ममता बनर्जी की सरकार पर हमला बोलते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि बंगाल, बिहार और झारखंड विकास में थोड़ा बहुत  वंचित रहे हैं लेकिन केंद्र में एनडीए की सरकार आने के बाद इन राज्यों का भी तेजी से विकास किया गया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार का लक्ष्य पूर्वांचल में अलग-अलग योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाना है। रेल मंत्री ने कहा कि मोदी जी कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के कार्यक्रम में आए और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी और आज मुझे सरोजिनी नायडू की जयंती पर ईस्ट-वेस्ट मेट्रो परियोजना के पहले चरण के उद्घाटन का सौभाग्य मिला है।

अत्याधुनिक मेट्रो के निर्माण में आई अड़चनों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि तीन साल तक विभिन्न वजहों से रेलवे का काम ठप रखना पड़ा। 6500 करोड़ रुपये का खर्च इस परियोजना में हो चुका है। रेल मंत्री ने कहा कि 905 करोड़ रुपये कोलकाता मेट्रो ने निवेश  किया हैं। उन्होंने बताया कि दुर्गा पूजा तक सियालदह तक काम पूरा कर दिया जाएगा। दरअसल यह मेट्रो रेल परियोजना हावड़ा मैदान से साल्ट लेक सेक्टर-5 को जोड़ने वाला  है। इसे लेकर रेल मंत्री ने बताया कि हावड़ा मैदान तक काम पूरा होने में और  दो साल का समय लगेगा। राज्य सरकार से सहयोग की अपेक्षा व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि अगर स्थानीय सहयोग मिले तो काम जल्दी पूरा होगा। मौके पर केंद्रीय पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो भी मौजूद थे। 

सहयोग नहीं करती राज्य सरकार –

रेल मंत्री ने पश्चिम बंगाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि रेलवे परियोजनाओं को पूरा करने में राज्य सरकार कतई सहयोग नहीं करती। उन्होंने कहा कि मेट्रो की चार अलग-अलग परियोजनाओं पर काम हो रहे हैं। लेकिन इसमें कई अड़चनें हैं। इसमें सबसे बड़ी समस्या है कि राज्य सरकार सहयोग नहीं करती है। उन्होंने कहा कि अगर राज्य सरकार का सहयोग मिले तो हम तेजी से काम कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि बाबुल सुप्रियो राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर तमाम अड़चनों की सूची बनाएंगे। आज और दो परियोजनाएं बनाई गई हैं जिसमें अजीमगंज तक इलेक्ट्रिफिकेशन किया जाएगा और अगले वर्ष के अंत तक 100 फ़ीसदी इलेक्ट्रिक लाइन बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अगले चार-पांच सालों तक पूरे मेट्रो रेल परियोजनाओं के विद्युतीकरण का लक्ष्य हमारा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिया है कि 20000 मेगा वाट का सोलर पावर प्लांट बनाया जाएगा ताकि प्रदूषण फ्री रेल यात्रा हो सके। रेल मंत्री ने बताया कि हावड़ा स्टेशन पर तीन मेगा वाट का सोलर पावर प्लांट लगाया गया है। ईस्ट- वेस्ट मेट्रो परियोजना के पहले चरण को हरी झंडी दिखाने के साथ-साथ पीयूष गोयल ने बालूरघाट हावड़ा एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई।

ममता सरकार से की आयुष्मान भारत लागू करने की अपील 

पीयूष गोयल ने ममता बनर्जी की सरकार से केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत को लागू करने की अपील की। उन्होंने कहा कि यहां की सरकार से हमारा अनुरोध है कि केंद्र की योजनाओं का लाभ यहां के लोगों को दें। आयुष्मान भारत योजना का लाभ पूरे देश को मिला लेकिन ममता बनर्जी ने यहां के लोगों को इसका लाभ नहीं लेने दिया। हर किसान को 6000 रुपये सालाना दिया जा रहा है लेकिन पश्चिम बंगाल के किसान इससे वंचित हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल के लिए जितना काम कर रही है, किसी सरकार ने नहीं किया।

पीयूष गोयल ने कहा कि जब वामपंथियों की सरकार थी तब वे कांग्रेस के साथ मिलकर काम करते थे। लेकिन बंगाल में कुछ नहीं किया गया। अब सरकार बदल गई है। यहां ममता बनर्जी की सरकार है और हम केंद्र की ओर से बंगाल के विकास के लिए काफी कुछ करना चाहते हैं लेकिन ममता लोगों को इससे वंचित कर देती हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल से किसानों की सूची नहीं दी जाती ताकि उन्हें वित्तीय मदद दी जा सके। मंत्री ने कहा कि बंगाल सरकार अगर किसी भी परियोजना के लिए जमीन देती है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट तौर पर निर्देश दिया है कि उस जमीन पर केंद्र की धनराशि खर्च कर परियोजनाओं को पूरा किया जाएगा।

This post has already been read 321 times!

Sharing this

Related posts