पाकिस्तान की जेल में बंद छत्तीसगढ़ के युवक के परिजनों देंगे हरसंभव मदद : गृहमंत्री

रायपुर। छत्‍तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले का एक युवक पाकिस्तान की इस्लामाबाद जेल में बंद है। युवक के परिवार वाले रिहाई के लिए विदेश मंत्रालय में लगातार गुहार लगा रहे हैं। इस संबंध में सोमवार को ‘मिलिये मंत्री से’ कार्यक्रम में राजीव भवन पहुंचे प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने मीडिया से चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि यह दूसरे देश का मामला है, इसे हमारे देश का विदेश मंत्रालय देखेगा और इस पर प्रयास भी करेगा। इस संबंध में हमारे लायक या हमसे जो सहयोग युवक के परिवार को चाहिए, प्रदेश सरकार हर संभव मदद करेगी। 

उल्‍लेखनीय है कि जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा क्षेत्र के पिहरीद गांव के सम्मेलाल जाटवर, अपने परिवार के साथ वर्ष 2014 में जम्मू के नवाशहर के ईंट भट्ठे में रोजगार के लिए गया था। इस दौरान सम्मेलाल का 19 साल का बेटा घनश्याम जाटवर 14 अप्रैल 2014 को लापता हो गया। युवक की काफी खोजबीन की गई, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला था। उस दौरान युवक के बगैर ही परिवार वापस अपने गांव लौटा था। परिवार को जानकारी मिली थी कि युवक को अमृतसर में बॉर्डर के पास फौजियों ने पकड़ा था और उसे कैंप में रखा गया। परिजन जब वहां पहुंचे तो कैंप से बताया गया कि बॉर्डर पार जाने के संदेह में उसे पकड़ा गया था, लेकिन बाद में पूछताछ कर छोड़ दिया गया था।

परिवार को जब पता चला कि युवक अमृतसर के रास्ते बॉर्डर पार कर पाकिस्तान चला गया था , तब से पूरा परिवार सदमे में आ गया। युवक के परिवार को करीब तीन माह पूर्व मालखरौद थाने से जानकारी मिली थी कि घनश्याम पाकिस्तान की इस्लामाबाद जेल में बंदी है। इस खबर को पाकर परिवार के चेहरे में जहां एक ओर खुशियां लौटी तो वहीं दूसरी ओर बेटे के पाकिस्तान की जेल में कैद होने की खामोशी भी है। बहरहाल, परिवार अपने बेटे की रिहाई के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है। इसको लेकर स्थानीय सांसद से भी मिल चुका है, सांसद ने विदेश मंत्रालय को चिठ्ठी भी लिखी, लेकिन अभी तक जवाब नहीं मिला है।

This post has already been read 377 times!

Sharing this

Related posts