Ranchi : डीजीपी एम वी राव ने भ्रष्ट पुलिस कर्मियों के खिलाफ खोला मोर्चा…

रांची: झारखंड के डीजीपी एम वी राव ने भ्रष्ट पुलिस कर्मियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने भ्रष्ट पुलिस कर्मियों और अपने दायित्व का निर्वहन नहीं करने वाले पुलिस कर्मियों के एक्शन लेने का आदेश दे दिया है। इसी कड़ी में रांची के पिठोरिया थाना क्षेत्र के ओयना गांव में नकली विदेशी शराब की तस्करी मामले में रांची के तीन थानेदारों पर गाज गिरने की खबर से हड़कंप मच गया है। सूत्रों के अनुसार एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने तीनों थानेदारों को शो-कॉज किया है। ओरमांझी इंस्पेक्टर श्याम किशोर महतो, बीआइटी ओपी प्रभारी बिरेन्द्र और पिठोरिया थाना प्रभारी को जल्द से जल्द जवाब देने का निर्देश है। इन सभी पर अवैध शराब के कारोबार की जानकारी होने के बाद भी कार्रवाई नहीं करने का आरोप है। तीनों थानेदारों को नोटिस भेजा गया है। बता दें कि ओयना गांव में पिछले कई माह से विदेशी नकली शराब का अवैध उत्पादन और लेबलिंग का धंधा उफान पर था। यह सब थानेदार के साथ सेटिंग गेटिंग से हो रहा था। इस बात की भनक एसएसपी सुरेंद्र झा को लग गई और उन्होंने नकली शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया था।
बताया जाता है कि जहां से बनी नकली शराब अलग-अलग गाड़ियों से बिहार, झारखंड, यूपी, ओड़िशा, हरियाणा समेत अन्य राज्यों में धड़ल्ले से आपूर्ति हो रही थी। धंधे का कर्ताधर्ता के रूप में रोहित शर्मा था। बता दें कि इसके पहले पिछले दिनों में कई थाना प्रभारियों पर अपने दायित्व का निर्वहन सही ढंग से नहीं करने के कारण गाज गिर चुकी है। इसी कड़ी में पिछले दिनों बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक जिनके द्वारा एक लड़की को थाना में पीटते हुए और गाली देते हुए वीडियो वायरल हुआ था। इस मामले को डीजीपी ने संज्ञान में लेते हुए डीएसपी को जांच का आदेश दिया था। उनकी जांच रिपोर्ट 2 दिन के बाद आने के बाद थाना प्रभारी के दोषी पाए जाने पर उन पर कार्यवाही हुई थी। इसके अलावा होमगार्ड ड्यूटी के नाम पर पैसा वसूली के मामले में भी डीजीपी ने संज्ञान लेते हुए बोकारो के डीआईजी को जांच का आदेश दिया था और जल्द रिपोर्ट देने को कहा था। साथ ही होमगार्ड के डीजी को भी इसकी रिपोर्ट जल्द सौंपने को कहा था। इसके अलावा रांची के लालपुर थाना के सब इंस्पेक्टर रंजीत कुमार मुंडा को रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने निलंबित कर दिया है। उन पर आरोप था कि पी सी रोड में एक मकान का ताला तोड़कर दूसरे पक्ष को जबरन कब्जा दिलवाया था। बहरहाल वैसे ही कई मामलों में कार्रवाई अब तक पहुंच चुकी है डीजीपी फिलहाल सख्त नजर आ रहे हैं। जिससे पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है कब किस पुलिस अधिकारी पर गाज गिर जाए तो कहना मुश्किल है।

This post has already been read 2291 times!

Sharing this

Related posts