उपायुक्त ने किया प्लाज़मा डोनेशन के लिए वेबसाइट लॉन्च

रांची : रांची के उपायुक्त छवि रंजन ने बुधवार को रिम्स स्थित प्लाजमा डोनेशन कैम्प में प्लाज़मा डोनेशन से संबंधित वेबसाइट लॉन्च की। इस वेबसाइट के जरिए कोविड19 से संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के लिए किए जा रहे प्लाज़मा थैरेपी के लिए आवश्यक प्लाज़मा उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अतिरिक्त कोविड19 को मात दे कर ठीक हो चुके लोग जो स्वेच्छा से प्लाज़मा दान करना चाहते हैं, वह भी इस वेबसाइट पर लॉग इन कर प्लाज़मा डोनेशन के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।
 ऐसे करेगा कार्य

 कोविड 19 से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए रांची में प्लाज़मा थैरेपी की शुरुआत की गई है। इसके लिए कोविड19 से ठीक हो चुके मरीजों के प्लाज़मा का इस्तेमाल किया जाता है। कोविड 19 से संक्रमित ऐसे व्यक्ति जिनके इलाज के लिए डॉक्टर/अस्पताल द्वारा प्लाज़मा की डिमांड की गई है, वैसे मरीज pratiraksha.co.in पर जा कर अपना डिमांड रजिस्टर कर सकते हैं। रजिस्टर करने वाले व्यक्ति को वेबसाइट के जरिए एक टोकन नम्बर जेनरेट कर दिया जाएगा। जो कि एक तरह का वेटिंग नम्बर होगा। ऑनलाइन प्राप्त आवेदन के आधार पर जिस ब्लड ग्रुप से संबंधित प्लाज़मा की डिमांड की गई है, उसकी उपलब्धता की जांच की जाएगी। ब्लड ग्रुप मैच करने पर मरीज के ब्लड सैंपल से उपलब्ध प्लाज़मा सैंपल को क्रॉस चेक करने के बाद प्लाज़मा उपलब्ध करवा दिया जाएगा। फर्स्ट कम फर्स्ट गेट के आधार पर कार्य करेगा pratirakshak.co.in

 वेबसाइट लॉन्च के दौरान उपायुक्त छवि रंजन ने कहा, “इस वेबसाइट को तैयार करने के पीछे मुख्य उद्देश्य यह है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लाज़मा दान करने के लिए प्रेरित किया जा सके। साथ ही, ऐसे लोग जिन्हें प्लाज़मा की सख़्त जरूरत हो उन्हें ‘फर्स्ट कम फर्स्ट गेट’ के आधार पर प्लाज़मा मिल जाए। जिससे कि पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहे।” “इसके अतिरिक्त वेबसाइट में एसएमएस इंटीग्रेशन की सुविधा दी गई है। जिससे कि डिमांड करने वाले व्यक्ति को प्लाज़मा उपलब्ध होते ही एसएमएस के जरिए सूचित कर दिया जाएगा।”  ठीक हो चुके मरीजों को वॉलंटियर करेंगे कॉल
 हालांकि इस वेबसाइट पर प्लाज़मा डोनेशन करने के इच्छुक व्यक्तियों के रजिस्ट्रेशन की भी सुविधा दी गई है लेकिन ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लाज़मा डोनेशन करने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से वॉलंटियर की टीम द्वारा सभी संभावित डोनर्स को कॉल भी किया जाएगा। जल्द ही वेबसाइट पर प्लाज़मा की उपलब्धता संबंधी रिपोर्ट भी जारी कर दी जाएगी, जिससे कि कोई भी व्यक्ति अपनी जरूरत के हिसाब से प्लाज़मा उपलब्ध है या नहीं इसे वेबसाइट पर जा कर देख सकेंगे। अंत में उपायुक्त ने सभी ठीक चुके मरीजों को आगे आकर प्लाज़मा दान करने की अपील की। उन्होंने कहा, “प्लाज़मा दान एक प्रकार का रक्तदान ही है। प्लाज़मा डोनेशन से डरने की जरूरत नहीं है। इसमें किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं है।।साथ ही, प्लाज़मा डोनेशन लेने से पहले रिम्स ब्लड बैंक की टीम द्वारा आपके ब्लड सैंपल की जांच की जाएगी। उसमें फिट पाए जाने के बाद ही आपसे प्लाज़मा दान करवाया जाएगा।” 

This post has already been read 1025 times!

Sharing this

Related posts