आईपीएल के दूसरे मुकाबले में पंजाब के सामने होगी दिल्ली की टीम

नई दिल्ली :  इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 के दूसरे मैच में किंग्स इलेवन पंजाब का सामना दिल्ली कैपिटल्स की टीम से होगा। दोनों ही टीमें आजतक कभी भी आईपीएल ना उठाने वाली तीन टीमों में शामिल हैं, इसलिए यह दोनों ही टीम आईपीएल के 13वें संस्करण में एक अच्छी शुरुआत करना चाहेंगी।
दुबई के दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले जाने वाले इस मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स की टीम मेजबान है। 
बहुत से विशेषज्ञों का यह मानना है कि दिल्ली की टीम इस बार पहली बार ट्रॉफी उठा सकती है। इसके पीछे का कारण यह है कि उनके पास प्रसिद्ध भारतीय खिलाडियों का एक अच्छा समूह है। उनके पास शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, कप्तान श्रेयस अय्यर और रिषभ पंत के रूप में एक बेहतरीन टॉप चार शामिल है।
जबकि उनके पास निचले कर्म में शिमरोन हेटमायर, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स केरी, और ललित यादव के रूप में वापसी कराने वाले अच्छे बल्लेबाज हैं। जबकि उनके तेज गेंदबाजों में इशांत शर्मा, कागिसो रबाडा, हर्षल पटेल और एनरिक नॉर्टजे शामिल हैं। यूएई की पिचें स्पिनरों के लिए काफी मददगार हैं, जिसके लिए दिल्ली के पास संदीप लामिछाने, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल और अमित मिश्रा जैसे अनुभवी स्पिनर हैं। 
पंजाब की बात करें तो उनके पास घरेलू और विदेशी दोनों तरह के कुछ शानदार टी 20 बल्लेबाजों की विलासिता है। केएल राहुल, क्रिस गेल, निकोलस पूरन, मयंक अग्रवाल, ग्लेन मैक्सवेल, और सरफराज खान सभी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे बड़े टी 20 नामों में से एक हैं। जबकि, पंजाब के पास मनदीप सिंह जैसा प्रतिभाशाली बल्लेबाज भी है, जोकि पारी को अच्छी तरह से खत्म करने में कारगर हो सकते हैं। 
मुजीब-उर-रहमान यूएई की पिचों पर बल्लेबाजों के लिए सर दर्द बन सकते हैं, जबकि पंजाब रवि बिश्नोई को एक सरप्राइज पैकेज की तरह मैदान पर उतार सकता है। टीम के पास मोहम्मद शमी, ईशान पोरेल, शेल्डन कॉटरेल और क्रिस जॉर्डन जैसे शानदार तेज गेंदबाज भी हैं। 
दोनों टीमों की ओर देखा जाए तो दिल्ली का पलड़ा थोड़ा सा भारी नजर आता है, जिसका मुख्य कारण उनके स्पिन गेंदबाज और अनुभवी बल्लेबाज हैं। लेकिन पंजाब का बल्लेबाजी लाइन अप भी कम नहीं है। एसे में गेंदबाजों पर बहुत कुछ निर्भर करेगा। 
दोनों टीमें आईपीएल के इतिहास में अबतक 26 बार भिड़ी हैं, जिसमें 16 बार पंजाब ने बाजी मारी है, जबकि 10 बार दिल्ली ने जीत का स्वाद चखा है। 
गौर फरमाने वाली बात यह भी है कि 2014 में जब आखिरी बार आईपीएल यूएई में हुआ था तो पंजाब ने अपने सभी पांचों मुकाबले जीते थे, और वह ऐसा करने वाली इकलौती टीम थी। उस दौरान ग्लेन मैक्सवेल का बल्ला खूब बोला था, और इंग्लैंड के खिलाफ हुई सीरीज में भी उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की थी। देखना दिलचस्प होगा कि दिल्ली और पंजाब की जंग में कौनसी टीम बाज़ी मारती है। 

This post has already been read 1652 times!

Sharing this

Related posts