अगस्ता मामले में राजीव सक्सेना की जमानत अर्जी पर फैसला सुरक्षित

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील मामले के आरोपी और दुबई की यूएचवाई नामक कंपनी के निदेशक राजीव सक्सेना की जमानत अर्जी पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। कोर्ट आज ही जमानत याचिका पर फैसला सुनाएगा।
आज राजीव सक्सेना की ईडी हिरासत खत्म हो रही थी जिसके बाद ईडी ने उसे कोर्ट में पेश किया था। ईडी ने आज कोर्ट से उसकी हिरासत की मांग नहीं की। सुनवाई के दौरान राजीव सक्सेना ने कहा कि उसे ल्युकेमिया की बीमारी है। उसे अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत है। सुनवाई के दौरान राजीव सक्सेना ने स्पेशल जज अरविंद कुमार से बिना किसी वकील की मदद से बात करने की अनुमति मांगी जिसके बाद कोर्ट ने इन-कैमरा सुनवाई यानि अकेले में सुनवाई की।
पिछले 8 फरवरी को कोर्ट ने राजीव सक्सेना को आज तक की ईडी हिरासत में भेजा था। पिछले 4 फरवरी को कोर्ट ने 8 फरवरी तक की ईडी हिरासत में भेजा था।
राजीव सक्सेना को प्रत्यर्पित कर 31 जनवरी को भारत लाया गया था जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 31 जनवरी की सुबह ही गिरफ्तार किया था।
राजीव सक्सेना की पत्नी शिवानी सक्सेना हैं जिन्हें पटियाला हाउस कोर्ट ने पिछले 11 जनवरी को 15 दिनों के लिए दुबई जाने की अनुमति दी थी। ईडी ने शिवानी को 17 जुलाई 2017 को चेन्नई से गिरफ्तार किया था। शिवानी मैट्रिक्स होल्डिंग्स के अलावा दुबई की यूएचवाई नामक कंपनी की भी डायरेक्टर है। रिश्वत देने के लिए अगस्ता वेस्टलैंड से जो 58 मिलियन यूरो की जो रकम आयी थी वो दो तीन कंपनियों से होकर आयी थी। इन कंपनियों में शिवानी की यूएचवाई और मैट्रिक्स होल्डिंग भी शामिल थी। राजीव और शिवानी को ईडी ने पटियाला हाउस कोर्ट में मनी लाउंड्रिंग के मामले में आरोपी बनाया है।

This post has already been read 6303 times!

Sharing this

Related posts