लोहरदगा में कर्फ्यू में पांचवें दिन दो घंटे की ढील, हालात शांतिपूर्ण

रांची : लोहरदगा में तिरंगा यात्रा के दौरान बीते गुरुवार को पत्थबाजी, हिंसक झड़प और बवाल के बाद जिला प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया था। पांच दिन से लगातार जारी कर्फ्यू में सोमवार को दो घंटे की ढील दी गयी है।

पुलिस के अनुसार कर्फ़्यू में यह छूट सुबह 10 से 12 बजे तक के लिए दी गई है। इस दौरान एक जगह पर चार से अधिक व्यक्तियों की भीड़ नहीं लगाने का निर्देश जारी किया गया है। कर्फ्यू  में ढील के दौरान पूरे क्षेत्र में  निषेद्याज्ञा लागू की गई है। कर्फ्यू में छूट के बाद लोगों की भीड़ दवाई और राशन दुकानें, पेट्रोल पंप और गैस गोदामों में देखी गयी। 

एसपी प्रियदशी आलोक ने सोमवार को बताया कि प्रशासनिक तौर पर स्थिति की समीक्षा की गई। हालात शांतपूर्ण होने के चलते पुलिस-प्रशासन की ओर से सोमवार को दो घंटों के लिए लोगों को कर्फ्यू में छूट दी गई है जिससे की लोग अपने दैनिक उपयोग के जरूरत के सामान, दवाई, राशन , दूध, सब्जी आदि अपने घर से नजदीकी दुकान तक जाकर खरीद सकें। अधिकारियों ने कर्फ्यू में ढील उस समय दी है जब लोग अपने जरूरी कामों को भी निपटा लें और विधि-व्यवस्था को नियंत्रित भी किया जा सके। शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों में कर्फ्यू में छूट के बाद हालात का आकलन करने के बाद प्रशासन आगे कर्फ़्यू में छूट की अवधि बढ़ाने पर निर्णय लेगा।

उल्लेखनीय है कि लोहरदगा के ललित नारायण स्टेडियम से बीते गुरुवार को सुबह 11 बजे नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के समर्थन में रैली निकाली गयी थी। रैली को शहर के मुख्य सड़क से होते हुए समाहणालय मैदान पहुंचना था। रैली में शामिल लोग नारेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे थे। उपायुक्त और एसपी खुद इस रैली के साथ चल रहे थे।

 रैली जब सुबह 11.30 बजे अमलाटोली के पास गुजरी तो विरोधी गुट के लोगों ने रैली में शामिल लोगों पर तबातोड़ ईंट-पत्थर फेंकना शुरू कर दिया था जिससे स्थिति बिगड़ गयी थी। उपद्रवियों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। स्थिति जब पूरी तरह से बिगड़ने लगी तो पुलिस को लगभग 100 राउंड फायरिंग करना पड़ा था। इसके बाद स्थिति को बेकाबू देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया था। घटना में कई लोग घायल हो गये थे। उनका इलाज रिम्स और मेडिकल अस्पताल में चल रहा है।

This post has already been read 641 times!

Sharing this

Related posts