नाराज नेताओं को एकजुट करने में लगे हैं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष

रांची । झारखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर सभी जिलाध्यक्षों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ईमानदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करें। अगर किसी भी प्रकार की समस्या आ रही है, तो उन्हें सूचित करें, ताकि उक्त समस्या का समाधान किया जा सके। एक ओर जहां प्रदेश अध्यक्ष जिलाध्यक्षों को आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे हैं, वहीं दूसरी ओर पार्टी में नाराज चल रहे नेताओं को एकजुट करने की कोशिश भी कर रहे हैं।

पार्टी सूत्रों के अनुसार प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने बीते दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार से बातचीत की थी। साथ ही उन्होंने कहा था कि आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता एकजुट होकर चुनाव की तैयारी करें ताकि झारखंड में कांग्रेस पार्टी मजबूती के साथ उभरे। सूत्रों ने यह भी बताया कि प्रदेश अध्यक्ष विधानसभा चुनाव को लेकर काफी गंभीर हैं। उनका प्रयास है कि नाराज सभी नेताओं को एकजुट किया जाये ताकि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस मजबूती हो सके।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में रांची सीट से सुबोधकांत सहाय भाजपा के संजय सेठ से हार गये थे। जिसके बाद सहाय के समर्थकों ने तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। काफी विरोध के बाद अजय कुमार ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि कई गुटों में बंटी कांग्रेस को एकजुट बनाये रखना रामेश्वर उरांव के समक्ष बडी चुनौती है। विधानसभा चुनाव को लेकर रामेश्वर उरांव पार्टी कार्यालय में आये दिन जिलाध्यक्षों, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे हैं। साथ ही उन्होंने पांच कार्यकारी अध्यक्षों राजेश ठाकुर, इरफान अंसारी, मानस सिन्हा, केशव महतो कमलेश सहित अन्य को कई जिलों की जिम्मेवारी भी सौंपी है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि पार्टी ने विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है। पार्टी के सभी नेता मिलकर विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं।

This post has already been read 201 times!

Sharing this

Related posts