चडरी सरना समिति के पूजा समिति के अध्यक्ष सबलू मुंडा ने कहा की सरकार का गाइडलाइन को मानते हुए उगते सूर्य को अर्घ्य के साथ ही छठ महापर्व का समापन हुआ

चडरी : सबलू मुंडा ने कहा की लोक आस्था के महापर्व छठ के चौथे दिन आज सुबह व्रतियों ने उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया। इसी के साथ चार दिनों तक चले छठ पर्व का समापन हो गया। शनिवार तड़के सुबह ही घाट पर श्रद्धालु पहुंचे उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया।चडरी सरना समिति के द्वारा शाम एवं सुबह के अर्धय मे करीब 8000 मास्क का वितरण निशुल्क समिति के द्वारा किया गया।चडरी सरना समिति राज्य सरकार को, जिला प्रशासन को,NDRF के टीम को बहुत बहुत धन्यवाद देती हैं जिन होने लोक आस्था के महा पर्व छठ को सफल बनाने में अहम योगदान रहा है। साथ ही साथ चडरी सरना समिति के द्वारा छठ के दूसरे अध्य के दिन रांची कोल जतरा सादगी के साथ मनाया गया। पहानो द्वारा विधि विधान से पूजा पाठ किया गया। पहनो के द्वारा जतरा स्थल में भेलवा फड़ा गया साथ ही साथ रंगवा मुर्गा की बलि दी गई।चडरी सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष श्री बबलू मुंडा ने कहा की आदिवासियों का पहचान उसकी रिती रिवाज परंपरा रूढ़िवादी व्यवस्था है हम सभी आदिवासियों को इस व्यवस्था को बचाने की जरूरत है तभी आदिवासी समाज रूढ़िवादी व्यवस्था बचेगी। इस पूरे कार्यक्रम में मुख्य रूप से चडरी सरना समिति के संरक्षक श्री जितेंद्र सिंह चडरी सरना समिति के महासचिव रवि मुंडा राजेश मुंडा सागर भगत विकी मुंडा राहुल मुंडा आकाश मुंडा शंकर लिंडा विक्की सोनी प्रकाश मुंडा राहुल मुंडा रामा मुंडा पनीर मुंडा रिंकू लाल अप्पू लिंडा प्रदीप मुंडा संजय लकड़ा भरत मुंडा(पहान) गुड्डू पहान छोटू पहान राहुल पहान विकास पहान अर्जुन पहान भीम पहान कांति पहान ग्वाला पहान बिल्टू पहान बाबू पहान दीपक पनभोरा आदि उपस्थित थे।

This post has already been read 465 times!

Sharing this

Related posts