Jharkhand : रूपा तिर्की मौत मामले में सीबीआई को मिला ऑडियो वीडियो, विधायक बंधु तिर्की नाम सामने

Ranchi : रूपा तिर्की मौत मामले में सीबीआई सूत्रों ने सोमवार को बताया कि मामले में अब विधायक बंधु तिर्की का नाम सामने आया है। बताया जा रहा है कि विधायक बंधु तिर्की ने कई तरह का लाभ दिलाने का प्रलोभन रूपा तिर्की के परिजनों को दिया। इनमें पेट्रोल पंप सहित अन्य मामले शामिल है। सीबीआई को जो वीडियो मिला है वह 27 मिनट 23 सेकंड का बताया जा रहा है। बंधु तिर्की मांडर से कांग्रेस के विधायक हैं। उनपर आरोप लग रहा है कि उन्होंने रूपा तिर्की के परिवार वालों से मुलाकात की और प्रलोभन दिया, ताकि उसके परिजन मामले की सीबीआई जांच की मांग ना करे।

और पढ़ें : Hamaaree Sehat : जाने कहीं झुककर चलना, ओस्टियो मालाशिया तो नही

उल्लेखनीय है कि हाई कोर्ट के आदेश पर साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई ने रूपा के पिता देवानंद उरांव, बहन उर्मिला उरांव सहित अन्य परिजनों का बयान ले चुकी है। इस मामले की जांच के दौरान सीबीआई को कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की का ऑडियो मिला है। साहिबगंज में मामले की जांच करने के बाद सीबीआई की टीम रांची में कैंप कर रही है और बीते 18 सितम्बर को रातू थाना क्षेत्र स्थित काठीटांड़ गांव में रूपा तिर्की के परिवार वालों से पूछताछ की थी।

बताया जा रहा है कि विधायक बंधु तिर्की बीते 10 जून को रूपा तिर्की के परिजनों से मिलने उनके घर गए थे। इस दौरान बंधु तिर्की ने परिजनों को न्यायिक जांच से संतुष्ट होने के लिए मना रहे थे। वीडियो में बंधु तिर्की बोल रहे हैं कि मेरी हार्दिक इच्छा है, मामले पर न्याय हो। साथ ही सरकार क्षतिपूर्ति भी दे। जिसमें सम्मानजनक राशि, नौकरी और पेट्रोल पंप दिलाने की बात कर रहे थे। परिजनों को मुख्यमंत्री से मिलने के लिये भी सहमत करते सुने गये। मामले को लेकर कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की ने बताया कि जो भी आरोप लगाए गए हैं, वह बेबुनियाद है। सीबीआई जब मामले को लेकर पूछेगी तब जवाब दूंगा।

सीबीआई की टीम रूपा तिर्की केस की लगातार जांच कर रही है और साहिबगंज में सीबीआई ने रूपा के पड़ोसी और पुलिसकर्मियो से पूछताछ कर चुकी है। सीबीआई फिर से रूपा के दोस्त और पुलिसकर्मियो से भी पूछताछ कर सकती है। सूत्रों ने बताया कि साहिबगंज के बरहरवा के तत्कालीन एसडीपीओ पी के मिश्रा से भी सीबीआई पूछताछ कर सकती है।

इसे भी देखे : बालूमाथ में करम की डाली विसर्जन करने गई सात बच्चियों की मौत

मालूम हो कि रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर रूपा तिर्की की हत्या की आशंका जताते हुए इसकी सीबीआई जांच कराने का आग्रह किया था। सीबीआई की टीम अलग-अलग बिंदुओं पर जांच कर घटना के संबंध में सुबूत जुटाने में जुटी है। हाई कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई की पटना ब्रांच ने मामले में 8 सितंबर को एफ आई आर दर्ज किया था। साहिबगंज पुलिस लाइन स्थित गंगा भवन सरकारी क्वार्टर से संदिग्ध अवस्था में रूपा तिर्की का शव तीन मई को बरामद हुआ था।

This post has already been read 17322 times!

Related posts