केंद्रीय विद्यालय की महिला शिक्षक का शव तालाब से बरामद

  • 5 दिनों से लापता थीं कुमारी अंकिता, परिजन और पुलिस कर रहे थे तलाश

रामगढ़।  जिले के केंद्रीय विद्यालय में कार्यरत महिला शिक्षक कुमारी अंकिता का शव शनिवार की सुबह बरकाकाना ओपी क्षेत्र के जोड़ा तालाब से मिला। शव की खबर मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई । पुलिस ने तत्काल मृतका के पति वेद प्रकाश प्रकाश को इसकी सूचना दी। घटनास्थल पर पहुंच कर वेद प्रकाश ने अपनी पत्नी के शव की शिनाख्त की। परिजनों के अनुसार कुमारी अंकिता ने सुसाइड किया है। वेद प्रकाश ने बताया कि 7 अक्टूबर की शाम  अंकिता गौशाला स्थित फ्रेंड्स कॉलोनी के किराये के मकान से निकली थी। जब उसका फोन नहीं लगा तो उन्होंने इसकी सूचना अपने परिजनों को दी थी। इस मामले में उन्होंने थाने में गुमशुदगी की सूचना भी दर्ज कराई थी। वेद प्रकाश को अंकिता के घर से एक सुसाइड नोट भी मिला था, लेकिन उस वक्त उन्हें यह भरोसा नहीं था कि अंकिता इतना बड़ा कदम उठा लेगी। वे उसे अपने परिजनों और दोस्तों के घर में ढूंढ रहे थे। पोचरा के जोड़ा तालाब में लाश मिलने की सूचना पुलिस से ही उन्हें मिली।

जब वहां पहुंचे तो अंकिता के कपड़ों और उसके शरीर पर मौजूद जेवर से उसकी शिनाख्त की गई। शायद 7 तारीख को ही उसने इस तालाब में डूब कर अपनी जान दे दी थी।10 अक्टूबर को ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के गुड़गांव शाखा प्रबंधक वेदप्रकाश ने रामगढ़ थाने में अपनी पत्नी की गुमशुदगी की सूचना दर्ज कराई थी। उन्होंने पुलिस को बताया था कि उनकी पत्नी अंकिता केंद्रीय विद्यालय में इंग्लिश की महिला शिक्षक के रूप में नियुक्त हुई थीं। इससे पहले वह दिल्ली गवर्नमेंट में कांट्रेक्ट टीचर थीं। वहीं से  केंद्रीय विद्यालय में महिला शिक्षक के पद के लिए परीक्षा दी थी। बरकाकाना स्थित केंद्रीय विद्यालय में 7 सितम्बर को अंकिता ने योगदान दिया था। रामगढ़ में फ्रेंड्स कॉलोनी में एक किराए के मकान में वह अपनी सास के साथ रह रही थीं। 7 अक्टूबर को वेद प्रकाश की मां जहानाबाद के लिए निकली थी। उसके बाद अंकिता भी शाम को घर से बिना बताए निकल गई थीं। इसके बाद उसका कोई पता नहीं चल पाया था। हालांकि पुलिस को अंकिता के घर से सुसाइड नोट मिला था लेकिन उसका शव बरामद नहीं होने के कारण पुलिस उसे सुसाइड नहीं मान रही थी।

This post has already been read 6155 times!

Related posts