संथाल परगना की सभी 15 सीटों पर क्लीन स्विप करेगी भाजपा : प्रतुल शाहदेव

रांची । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में संथाल परगना की 15 सीटों पर 16 दिसम्बर को मतदान होगा। भाजपा संथाल परगना की सभी सीटों पर क्लीन स्विप करेगी। उन्होंने कहा कि अभी तक विधानसभा चुनाव के तीन चरणों में 50 सीटों पर मतदान हुआ है। इसमें पार्टी 40-42 सीटों पर जीत रही है।

शाहदेव शनिवार को अरगोड़ा स्थित मीडिया सेंटर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। शाहदेव ने कहा कि भाजपा के पक्ष में पूरे राज्य में प्रचंड लहर चल रही है। पार्टी चौथे चरण के सभी 15 सीटों पर जीत की ओर अग्रसर है। जनता विकास और स्थायी सरकार के मुद्दे पर पार्टी का खुलकर साथ दे रही है। उन्होंने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन दुमका और बरहेट दोनों जगह से चुनाव लड़ रहे हैं। वह दोनों सीटों पर चुनाव हार रहे हैं। पार्टी संथाल परगना की 15 सीटों पर विपक्ष को किसी भी प्रकार का मौका नहीं देगी। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री रघुवर दास, कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राजनाथ सिंह, योगी आदित्यनाथ, स्मृति ईरानी सहित अन्य नेताओं  की सभाओं में उमड़ रही भारी भीड़ साफ संकेत दे रही है कि विपक्ष का सूपड़ा साफ होने वाला है। शाहदेव ने कहा कि जनता गठबंधन के अंदर के विरोधाभास को अच्छे से देख रही है। राज्य को लूटने के लिए बने गठबंधन को जनता कभी स्वीकार नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि चौथे चरण में झामुमो सहित तमाम विपक्षी दलों का खाता भी नहीं खुलने वाला। उन्होंने कहा कि हेमंत दुमका और बरहेट दोनों जगह से हार रहे हैं। अब 2024 के लिए उन्हें एक नए सीट की तलाश करनी चाहिए।

जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय उम्मीदवार सरयू राय के द्वारा हेमंत सोरेन के पक्ष में प्रचार करने के मुद्दे पर शाहदेव ने कहा कि यह पूरा प्रकरण दिखाता है कि सरयू राय के लिए व्यक्तिगत चीजों का ज्यादा महत्व है। तभी तो वो कभी हेमंत सोरेन को भ्रष्टाचारी बताते थे लेकिन आज उनके पक्ष में प्रचार करने के लिए जा रहे हैं। वह भी यह कहकर कि चूंकि हेमंत सोरेन ने उन्हें जमशेदपुर पूर्वी में मदद किया इसलिए उनकी मदद करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजनीति में दो तरीके का चरित्र उचित नहीं होता। एक तरफ सरयू राय उच्च नैतिक आदर्शों की बात करते हैं और दूसरी तरफ आदिवासियों मूलवासियों की जमीन हड़पे सोरेन परिवार के चुनाव प्रचार में जा रहे हैं। सरयू राय ने आरोप लगाया था कि ईवीएम हैकर्स 13 दिसम्बर को एक होटल में ठहरे हुए हैं। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर उस होटल के कुछ निर्दोष लोगों से देर रात तक पुलिस पूछताछ करती रही लेकिन सारा आरोप झूठा निकला। यह सब दिखाता है कि सरयू राय हताशा में बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। प्रेसवार्ता में संजय पोद्दार, ललित ओझा, डॉ मनोज कुमार, योगेंद्र प्रताप सिंह, पंकज पांडेय मौजूद थे।

This post has already been read 2689 times!

Sharing this

Related posts