भाजपा सांसद ने सांसद मे क्रिश्चियन समुदाय के लोगों के लिए सुरक्षा की मांग की

  • भाजपा के राज्यसभा सांसद ने पाकिस्तान में रह रहे क्रिश्चियन सहित सभी माइनारटीज वर्ग के  लोगो के लिए  सुरक्षा देने की मांग भारत सरकार से किया
  •  माइनॉरिटी भाइयों को सुरक्षा देने के लिए भारत सरकार इंटरनेशनल फोरम पर बात करें और पाकिस्तान में उन्हें बेहतर जीवन देने की स्थितियां उपलब्ध कराएं
  • भाजपा के राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार में राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मामला उठाया 

  भाजपा के राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार राज्य सभा मे शून्यकाल के दौरान सरकार से मांग की है कि पाकिस्तान में रह रहे क्रिश्चियन सहित जितने भी माइनॉरिटी वर्ग है उनको उनकी सुरक्षा के लिए इंटरनेशनल फोरम में चर्चा किया जाए. सांसद ने कहा कि 1951 में पाकिस्तान में 14% माइनॉरिटी की आबादी रहती थी जो वर्तमान में 3.5 प्रतिशत तक रह गया है. कुछ दिन पहले  एक 75 साल के पादरी को पेशावर में गोली मार  कर हत्या कर दी गई जो एक चिंतनीय विषय है. इसी तरह वहां रह रहे हिंदू .सिख भाइयों पर भी अत्याचार कई सालों से होता रहा है .यह हम भारतीयों के लिए दिल को दुखाने वाला घटना है. क्रिश्चियन कम्युनिटी पर पाकिस्तान में लगातार हो रहे हमले के कारण हम  भारत के लोग चिंतित हैं.

इसे भी देखे : ग्राहकों को इन 3 बैंकों के बचत खातों पर मिलेगा ज्यादा ब्याज, नई दरें लागू

 हाल के दिनो मे एक क्रिश्चियन पादरी को गोली मारकर हत्या कर देने की घटना ही नहीं है ,  बल्कि पाकिस्तान में क्रिश्चन भाइयो पर आए दिन अत्याचार किया जा रहा है. पाकिस्तान के कराची शहर में जहां 300 कैथोलिक परिवार रहते हैं उन लोगों के चर्च को जहां व प्रार्थना करने के लिए जाते थे उसे गिरा दिया गया. इन सभी  लोगों ने इसका विरोध भी किया लेकिन उन पर अत्याचार करना कम नहीं किया गया.

इसे भी देखे : महिला के साथ दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार

  हाल के कुछ वर्षों में पाकिस्तान मे इस तरह की घटनाओं से पाकिस्तान में रह रहे माइनॉरिटी के लिए स्थितियां खराब होती जा रही है.हम भारत सरकार से मांग करते है कि भारत सरकार को इंटरनेशनल फोरम पर इस पर चर्चा करके वहां रह रहे माइनॉरिटी स सुरक्षा देने की अपील की जाए,  क्योंकि वहां जोमाइनारटीज रह रहे हैं वह हम भारतीयों के भाई बंधु ही है, चाहे वह किसी भी धर्म के हो हम लोगों का उनके साथ एक अलग तरह का लगाव है, जिसे हम महसूस करते हैं.

This post has already been read 18184 times!

Sharing this

Related posts