देश के सात राज्यों में बर्ड फ्लू का कहर, दिल्ली में भी बढ़ा खतरा

  • दिल्ली के कई स्थानों पर मृत पड़े पक्षी मिलने से हॉज खास, संजय झील औऱ द्वारका सेक्टर 9 के पार्क किए गए बंद 
  • 10 दिनों के लिए आजादपुर मुर्गा मंडी किया गया बंद

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद देश के सात राज्यों में इसका कहर है। दिल्ली में भी पिछले दो दिनों से अलग-अलग स्थानों पर हो रही पक्षियों की मौत से बर्ड फ्लू फैलने की आशंका जताई जा रही है। मृत पक्षियों के सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए हैं जिसकी रिपोर्ट सोमवार को आएगी। इस बीच दिल्ली सरकार ने 10 दिनों के लिए आजादपुर की मुर्गा मंडी को बंद कर दिया है। वहीं, दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने हॉज खास पार्क, द्वारका सेक्टर-9 पार्क औऱ संजय झील को ऐतिहातन लोगों के लिए बंद कर दिया है। उधर, छत्तीसगढ़ में भी पक्षियों के मरने की खबरें आ रही हैं।पशु पालन विभाग के अनुसार शनिवार को हरियाणा के पंचकुला जिले की दो मुर्गीपालन कंपनियों से लिए गए नमूनों में आईसीएआर-एनआईएचएसएडी द्वारा एवियन फ्लू (एआई) की पुष्टि हुई है। मध्य प्रदेश के शिवपुरी, राजगढ़, शाजापुर, आगर, विदिशा, उत्तर प्रदेश के जूलॉजिकल पार्क, कानपुर और राजस्थान के प्रतापगढ़ एवं दौसा जिलों में प्रवासी पक्षियों में एवियन फ्लू के मामले दर्ज किए गए हैं। विभाग ने प्रभावित राज्यों के लिए परामर्श जारी किया है, जिससे बीमारी का प्रसार रोका जा सके। अभी तक सात राज्यों (केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, गुजरात और उत्तर प्रदेश) में इस बीमारी की पुष्टि हो चुकी है।

बर्ड फ्लू के मद्देनजर केन्द्र सरकार ने राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिव को लिखा पत्र केन्द्र सरकार ने बर्ड फ्लू के मद्देनजर सभी राज्यों एवं केन्द्र सरकार के सचिवों को पत्र लिखा है। प्रशासकों को भेजे पत्र में पशुपालन विभागों से बीमारी की स्थिति पर नजर रखने के साथ इंसानों में बीमारी के प्रसार की संभावनाओं से बचने के उपाय करने को कहा गया है। इसके अलावा, जल स्रोतों, पक्षी बाजारों, चिड़ियाघरों, पोल्ट्री फार्म्स आदि के आस-पास निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। राज्यों से एवियन फ्लू की किसी घटना को लेकर तैयार रहने को कहा गया है। पक्षियों को मारने के अभियान के लिए पीपीई किट्स और एसेसरीज का पर्याप्त भंडार सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

This post has already been read 1354 times!

Sharing this

Related posts