यूरिया घोटाले में डी एम की बड़ी कार्रवाई

किशनगंज : कोरोना काल में किशनगंज   जिले में  लम्बे समय से यहां के भोले -भाले अशिक्षित किसानों के नाम पर  खाद की आपूूर्ति दिखाकर  कालाबजारी करने का धंधा फलने -फूलने की गुप्त सूचना पर डी एम डाॅ आदित्य प्रकाश ने  मंगलवार को बड़ी  कार्रवाई की।  जिला कृषि पदाधिकारी प्रवीण कुमार झा के जांच प्रतिवेदनों में बड़े पैमाने पर यूरिया घोटाला एवं  कालाबजारी का खुलासा  होने के बाद डी एम  डाॅ    प्रकाश ने   जांच में कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध मामला दर्ज करने का आदेश संबंधित थाना क्षेत्र में अधिकारियों को दिया है। ज्ञात हो कि   जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में डीएम  द्वारा गठित जांच  समिति के  प्रतिवेदनों पर निर्णय लेते हुए डी एम ने सहकारी समिति के खाद विक्रेता को दोषी माना है।   जांच समिति  ने  अप्रैल 2020 से जुलाई 2020 तक कृषक के नाम पर    बाहदुरगंज थाना क्षेत्र में बड़ी मात्रा में यूरिया बैग (प्रति बेग 45 किलोग्राम) पीओएस मसीन से यूरिया विक्रेता द्वारा  सप्लाई पर  जांच  और  संबंधित थाना क्षेत्र में क्रमशः शफीबुर रहमान एवं मोफिज आलम से पूछताछ की जिससे पता चला  कि इन दोनों क्रेता किसानों के नाम पर   कुल 282 बेग यूरिया खाद सप्लाई दिखाई गई थी जबकि क्रेता कृषक शफीबुर रहमान ने जांच समिति को पूछताछ में  बताया कि उसने मात्र दो बैग (प्रति बेग 45 किलोग्राम) यूरिया खरीदी  है जबकि उसके नाम 145 बैग की सप्लाई दिखाई गई है।  कृषक मोफिज आलम ने भी जांच समिति को पूछताछ में बताया कि उसने मात्र चार बैग यूरिया की ही खरीदारी की है जबकि उसके  नाम पर पीओएस मशीन से 141 बैग सप्लाई दिखाई  गई है।  बाहदुगंज थाना क्षेत्र में दो  किसान क्रमशः शारून कुमार सिंह व मसूद आलम   के नाम पर  पीओएस मशीन से 282 बैग सप्लाई का खुलासा हुआ । इन दोनों   किसानों ने भी पूछताछ में जांच समिति को बताया कि  दोनों ने केवल आठ बैग यूरिया खरीदी है। इसी प्रकार  कोचाधामन क्षेत्र में जांच समिति के वरीय उपसमाहर्ता रंजीत कुमार  सहित   अन्य प्रमुख संबंधित विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में सहकारिता समिति के खाद विक्रेता के घपले का पता चला।  इस खाद बिक्रेता ने अप्रैल से जुलाई तक   एक ही खुदरा उर्वरक ब्रिकेता आवेद आलम  को 242 बैग यूरिया की बिक्री दिखाई है। जांच पर  किसान आवेद आलम ने कहा कि उसने मात्र तीन बैग यूरिया खरीदी है।  

This post has already been read 1652 times!

Sharing this

Related posts