बाडमेरःरामकथा का पंडाल गिरा,करंट लगने से 14 श्रद्धालुओं की मौत

बाड़मेर में रविवार को आंधी तूफान ने जबर्दस्‍त कहर बरपाया। इसके कारण जिले के जसोल गांव में चल रही रामकथा का पांडाल गिर गया। पांडाल में लोहे के इस्‍तेमाल के चलते इसमें करंट फैल गया। पांडाल के नीचे दबने और करंट लगने से 14 श्रद्धालुओं की मौत हो गई। चार दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

जानकारी के अनुसार, हादसा बाड़मेर जिले के जसोल गांव में हुआ। गांव के स्कूल परिसर में रामकथा के लिए करीब 200 फीट का लोहे का पंडाल तैयार किया गया था। दोपहर बाद अचानक से मौसम के रुख में बदलाव हुआ। करीब पौने चार बजे तेज आंधी-तूफान आया, जिससे पंडाल गिर गया। इससे बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु दब गए। आंधी-तूफान के साथ ही बारिश भी शुरू हो गई। पंडाल में बिजली उपकरण लगे होने के कारण उसमें करंट फैल गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाड़मेर हुए हादसे पर दुख प्रकट किया है। उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘राजस्‍थान के बाड़मेर में पंडाल गिरने की घटना दुर्भाग्‍यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ है। मैं घायलों के जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना करता हूं।’ मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट कर हादसे पर शोक जताया है।

This post has already been read 553 times!

Sharing this

Related posts