Diwali 2021: दिवाली पर चार ग्रहों का शुभ संयोग,जानिए लक्ष्मी पूजन शुभ मुहूर्त और तिथि

Religious : दिवाली हिंदू धर्म का त्यौहार है जो कि बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है! दीपों का खास पर होने के कारण इसे दीपावली या दिवाली नाम से जाना जाता है कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाने वाला यह महा पर अंधेरी रात को असंख्य दीपों की रोशनी से प्रकाशमय कर देता है ! मान्यताओं के अनुसार दिवाली पर माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा-आराधना होती है। दिवाली पर इनकी पूजा करने पर घर पर सुख-समृद्धि और वैभव की प्राप्ति होती हैं। इस बार दिवाली का त्योहार 04 नवंबर, गुरुवार को है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस बार लक्ष्मी-गणेश पूजन पर चार ग्रहों का शुभ संयोग बन रहा है जिसमें एक राशि में चार ग्रह गोचर कर रहें होंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस शुभ योग में दिवाली का त्योहार बहुत शुभ रहेगा। सभी पर देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

और पढ़ें : Business : कौन से है वो दिग्गज शेयर, जिन्होंने एक झटके में निवेशकों को करोड़ों का फायदा करा दिया, जाने

दिवाली पर अमावस्या तिथि
हिंदू पंचांग के अनुसार दिवाली का त्योहार हर वर्ष कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष को अमावस्या तिथि पर मनाई जाती है। इस बार दिवाली पर अमावस्या तिथि 04 नवंबर की सुबह 06 बजकर 03 मिनट से आरंभ होकर 05 नवंबर की सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर समाप्त होगी। दिवाली पर लक्ष्मी-गणेश पूजा मुहूर्त शाम 06 बजक 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक रहेगा।

04 नवंबर को चार ग्रहों की युति
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार दिवाली पर चार प्रमुख ग्रहों की युति हो रही है जिसमें इस दिन तुला राशि में सूर्य, बुध, मंगल और चंद्रमा मौजूद रहेंगे। इस बार चार नवंबर को दिवाली बहुत ही शुभ संयोग में मनाई जाएगी।

चार ग्रहों की युति और लक्ष्मी पूजन का महत्व
तुला राशि में चार ग्रहों की युति से विशेष संयोग का निर्माण होगा। तुला राशि के स्वामी शुक्र ग्रह होते हैं और वैदिक ज्योतिषशास्त्र में शुक्र ग्रह को धन,संपदा, सुख-समृद्धि, वैभव, ऐशोआराम और लग्जरी लाइफ प्रदान करने वाले ग्रह माना गया है। सूर्य सभी ग्रहों में राजा और ऊर्जा प्रदान करने वाले ग्रह, मंगल ग्रह पराक्रम, बुध ग्रह वाणी और बुद्धि प्रदान करने वाले ग्रह है। इसके अलावा चंद्रमा मन के कारक ग्रह है। इस तरह के चार ग्रहों का तुला राशि में होना बहुत ही शुभ संयोग है।दिवाली पर चार ग्रहों की शुभ यति होने से भक्तों पर मां लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहेगी।

इसे भी देखे : आपके भी बाल झड़ रहे हैं? तो देखें ये वीडियो

दिवाली 2021 शुभ मुहूर्त:

लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त: 04 नवंबर की शाम 06 बचकर 09 मिनट से रात 08 बजकर 20 मिनट तक।
अमावस्या तिथि प्रारंभ: 04 नवंबर 2021 को सुबह 06 बजकर 03 मिनट से ।
अमावस्या तिथि का समापन: 05 नवंबर की सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर समाप्त ।

This post has already been read 20802 times!

Related posts