अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान हटाना ‘ऐतिहासिक कदम’ : सेना प्रमुख

नई दिल्ली। आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने को ऐतिहासिक करार देते हुए कहा कि इससे कश्मीर को मुख्य धारा में शामिल होने का मौका मिलेगा। आर्मी चीफ ने पाकिस्तान का बिना नाम लिए बिना कहा कि सेना आतंक के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर चलती है और इसका जवाब देने के लिए भारतीय सेना के पास कई विकल्प हैं। 72वें सेना दिवस के मौके पर नरवणे ने कहा कि भारतीय सेना ने प्रॉक्सी वॉर में पूरी सक्रियता और मजबूती के साथ देश की सुरक्षा को सुनिश्चित किया है। उन्होंने बताया कि उत्तरी सीमा पर स्थिति शांतिपूर्ण है।

जम्मू कश्मीर का जिक्र करते हुए नरवणे ने कहा कि आर्टिकल 370 का हटना ऐतिहासिक कदम है इससे कश्मीर को मुख्य धारा में शामिल होने का मौका मिलेगा। आर्मी चीफ ने आगे कहा कि उनके पास आतंक का जवाब देने के अनेक विकल्प मौजूद हैं। पाकिस्तान का नाम लिए बिना नरवणे बोले कि आतंक के प्रति हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति है। वह बोले कि आतंक के खिलाफ जवाब देने के लिए हमारे पास अनेक विकल्प हैं, जिनका इस्तेमाल करने में हम नहीं हिचकिचाएंगे।

नरवणे ने बताया कि आर्मी को आधुनिक बनाने पर जोर दिया जा रहा है। वह बोले कि उनकी नजर भविष्य में होने वाले युद्ध के स्वरूप पर है। इसके लिए इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप्स का निर्माण हो रहा है। स्पेस, साइबर, स्पेशल ऑपरेशन और इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर पर काम चल रहा है। नरवणे ने बताया कि सेना को भविष्य के लिए तैयार करने के लिए वह टेक्निलकल क्षमता बढ़ाने पर भी ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। आर्मी चीफ ने कहा कि सेना में जाति, धर्म और क्षेत्र को लेकर कोई भेदभाव नहीं किया जाता है। सेना नाम, नमक और निशान के सिद्धांक का पालन करते हुए देश की रक्षा करती है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि सेना आगे भी देश के विश्वास पर इसी तरह खरा उतरेगी।

This post has already been read 129 times!

Sharing this

Related posts