एंजेला मार्केल ने कोरोना वायरस को बताया द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद सबसे बड़ी चुनौती

बर्लिन। जर्मन चांसलर एंजेला मार्केल ने कोरोना वायरस को द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद सबसे बड़ी चुनौती बताया है।

टेलिवीजन के माध्यम से आग्रह करते हुए उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि साफ-सफाई को लेकर सतर्क रहें। इससे लड़ने के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा। स्थिति को गंभीरता से लें और वैश्विक स्तर पर भी उन्होंने सबके साथ आने की बात कही है।

मार्केल ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि अगर हर नागरिक अपनी जिम्मेदारी को समझेगा तो हमें सफलता जरूर हासिल होगी। उन्होंने अपनी स्वास्थ्य प्रणली की प्रशंसा करते हुए डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों का आभार जताया, जो लगातार काम कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि जर्मनी में अब तक कोरोना वायरस के 8,198 मामले दर्ज हुए हैं और 12 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी तक 25000 इंटेंसिव केयर बेड हैं और मेडिकल अपकरण भी हैं। फिलहाल, विश्व स्वास्थ्य संगठन इसे महामारी घोषित कर चुका है और कई देशों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।

This post has already been read 1121 times!

Sharing this

Related posts